Corona Vaccine की मंजूरी के बाद आपस में क्यों भिड़े भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट?

  • भारत में दो कोरोना वैक्सीन को आपात इस्तेमाल के लिए मिली मंजूरी
  • डेटा की पारदर्शिता और वैक्सीन के असर को लेकर भिड़ी दो कंपनी

नई दिल्ली। भारत में आपात इस्तेमाल के लिए दो वैक्सीन को मिली मंजूरी के बाद वैक्सीन निर्माता कंपनी भारत बायोटेक ( Bharat Biotech ) और सीरम इंस्टीट्यूट ( Serum Institute ) आपस में भिड़ गए हैं। सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला ( Serum Institute CEO Adar Poonawalla ) ने कोवैक्सीन ( Covaxin ) को मंजूरी दिए जाने को लेकर आपत्ति जताई। अब भारत बायोटेक के संस्थापक चेयरमैन कृष्ण एल्ला ( Krishna Alla, founder chairman of Bharat Biotech ) ने सीरम इंस्टीट्यूट पर पलटवार किया है।

Study: मानव शरीर में तेजी के साथ प्रजनन कर रहा New Coronavirus, जानिए वैक्सीन कितनी कारगर?

वैक्सीन को पानी बताया

कृष्णा एल्ला ने अदार पूनावाला का नाम लिए बिना कहा कि हम 200 प्रतिशत ईमानदार क्लिनिकल ट्रायल करते हैं, बावजूद इसके अगर हमें ऐसे प्रतिक्रिया मिलती हैं तो यह काफी अफसोसजनक है। उन्होंने यह भी कहा कि कुछ कंपनियों ने हमारी वैक्सीन को पानी बताया है। मैं एक साइंटिस्ट हूं और इस तरह की बातों को सिरे से खारिज करता हूं। गौरतलब है कि एक दिन पहले एक टीवी इंटरव्यू के दौरान सीरम इंस्टीटïयूट के अदार पूनावाला ने कहा था कि अभी तक केवल मॉडर्ना, फाइजर और ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन ही असरदार साबित हुई हैं। जबकि शेष दवाई तो पानी की तरह हैं।

बड़ी खबर: ऑक्सफोर्ड की Corona Vaccine की कीमत का खुलासा, जानिए जनता को कितने में पड़ेगी एक डोज?

ऑक्सफोर्ड डेटा पर कोई सवाल नहीं उठाया गया

एल्ला ने आगे कहा अमरीका और यूरोप ने यूके से एस्ट्राजेनेका-ऑक्सफोर्ड वैक्सीन का ट्रायल डेटा लेने से मना कर दिया था। जिसका कारण उसका पारदर्शी न होना था। बावजूद इसको ऑक्सफोर्ड डेटा पर कोई सवाल नहीं उठाया गया। एल्ला ने इस दौरान एम्स डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया के उस बयान को लेकर भी आपत्ति जताई, जिसमें उन्होंने कोवैक्सीन का इस्तेमाल बैकअप के रूप में करने को कहा था। एल्ला ने स्पष्ट कहा कि यह कोरोना वायरस की वैक्सीन है कोई बैकअप नहीं। ऐसे बयान देने से पहले लोगों को कई बार सोचना चाहिए।

Corona Vaccine को लेकर AIIMS निदेशक का बयान- साइड इफेक्ट्स दिखे तो मिलेगा मुआवजा

एल्ला ने कहा कि भारत बायोटेक एक भारतीय कंपनी है और अन्य कंपनियों की अपेक्षा बिना किसी बैकअप के संघर्ष कर रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी यहां डेटा को लेकर पूरी पारदर्शिता बरती जाती है और डेटा के आधार पर ही हमने मंजूरी भी पाई है।

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned