कर्नाटक: महिला ने रमेश जरकीहोली से खतरे का लगाया आरोप, हाईकोर्ट को लिखा पत्र

कर्नाटक उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से मामले की जांच अपनी निगरानी में कराने की मांग की है।

नई दिल्ली। पूर्व मंत्री रमेश जरकीहोली (Ramesh Jarkiholi) से जुड़े सेक्स स्कैंडल (Sex Scandal) में एक और नया मोड़ सामने आया है। अब एक पत्र मिला है। ऐसा बताया जा रहा है कि वीडियो में नजर आ रही महिला ने इसके जरिए कर्नाटक उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से मामले की जांच अपनी निगरानी में कराने की मांग की है।

रविवार को लिखे तीन पन्नों के पत्र में महिला ने कोर्ट से अपील की है कि वह मामले में पनपे खतरे पर संज्ञान ले, मामले की जांच कराए और राज्य सरकार को उसे सुरक्षा देने का निर्देश देते हुए उसे न्याय दे।

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी के बांग्लादेश दौरे की शिकायत करने चुनाव आयोग पहुंची TMC, कहा- आचार संहिता का हुआ उल्लंघन

महिला ने आरोप लगाया है कि मामले की जांच कर रही एसआईटी पूरी तरह से जरकीहोली के इशारों पर काम कर रही है। राज्य सरकार भी उनका बचाव कर रही है। ऐसे में उसे जांच एजेंसी पर भरोसा नहीं रह गया है।

बलात्कार पीड़िता होने का दावा कर महिला ने कुब्बन पार्क थाने में रमेश जरकीहोली के खिलाफ शिकायत दी है। इसके आधार पर एक प्राथमिकी दर्ज की गई है।

जरकीहोली बेहद प्रभावशाली व्यक्ति

महिला ने पत्र में कहा कि जरकीहोली बेहद प्रभावशाली व्यक्ति हैं। वह पहले भी उसे सार्वजनिक तौर पर धमकी दे चुके हैं। वह अपने खिलाफ आरोपों को खत्म करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। पहले भी वे रमेश जरकीहोली से उन्हें और मेरे माता-पिता को खतरे की बात कह चुकी हैं। उन्होंने एसआईटी से अपने और अपने माता-पिता के लिए सुरक्षा की मांग की है। अपील करने पर भी एसआईटी ने उसे या उसके माता-पिता को सुरक्षा नहीं दी है।

‘कानून अपना काम करेगा’

वहीं, कांग्रेस की कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष डी के शिवकुमार ने कहा कि इस मामले को बंद करने के सारे प्रयास किए जा रहे हैं। मगर कानून अपना काम करेगा। मामले को बंद करने के सारे प्रयास हो रहे हैं। वे लोगों को सामने लाकर बयान दिलवा रहे हैं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned