अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 2021: पीएम मोदी बोले- योग हमें अवसाद से उमंग तक ले जाता है, कोरोना के खिलाफ बना सुरक्षा कवच

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी के संकट के बीच योग उम्मीद की किरण बना हुआ है। योग में फिजिकल हेल्थ के साथ-साथ मेंटल हेल्थ पर इतना जोर दिया गया है। योग हमें स्ट्रेस से स्ट्रेंथ और नेगेटिविटी से क्रिएटिविटी का रास्ता दिखाता है।

नई दिल्ली। भारत की अगुवाई में दुनिया में आज सातवां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर देश और दुनिया को संबोधित किया। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी के संकट के बीच योग उम्मीद की किरण बना हुआ है। कोरोना काल में भले ही सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं हुआ हो, लेकिन योग दिवस को लेकर उत्साह कम नहीं हुआ है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि योग दिवस पर कामना करता हूं कि हर देश और हर व्यक्ति स्वस्थ हो।

योग सभी के लिए लाभदायक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में योग भी एक सुरक्षाकवच बना है, डॉक्टर और मरीज़ दोनों के लिए ये लाभदायक हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक कहावत का ज़िक्र करते हुए कहा कि किसी बीमारी को जड़ से खत्म करना जरूरी है, योग उसका रास्ता दिखाता है। पीएम मोदी ने कहा कि ऑनलाइन क्लास के दौरान भी बच्चों को योग करवाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें :— एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के मुख्य खोजकर्ता का दावा, कोविशील्ड की दो डोज में 12 से 16 हफ्ते का अंतराल सही


योग उम्मीद की एक किरण बना हुआ है
पीएम मोदी ने कहा कि आज जब पूरा विश्व कोरोना महामारी का मुकाबला कर रहा है तो योग उम्मीद की एक किरण बना हुआ है। 2 वर्ष से दुनियाभर के देशों में और भारत में भले ही बड़ा सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित न हुआ हो, लेकिन योग दिवस के प्रति उत्साह जरा भी कम नहीं हुआ है।


यह भी पढ़ें:— इस राज्य में अगर दो बच्चों से ज्यादा पैदा हुआ तो नहीं मिला सरकारी योजना का लाभ

अवसाद से उमंग तक ले जाता है योग
पीएम मोदी ने कहा कि भारत के ऋषियों ने भारत ने जब भी स्वास्थ्य की बात की है। इसका मतलब केवल शारीरिक स्वास्थ्य नहीं रहा है। योग में फिजिकल हेल्थ के साथ-साथ मेंटल हेल्थ पर इतना जोर दिया गया है। योग हमें स्ट्रेस से स्ट्रेंथ और नेगेटिविटी से क्रिएटिविटी का रास्ता दिखाता है। योग हमें अवसाद से उमंग और प्रमाद से प्रसाद तक ले जाता है।

योगा फॉर वेलनेस
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर योग गुरु रामदेव ने आचार्य बालकृष्ण के साथ उत्तराखंड के हरिद्वार के निरामयम योगग्राम गांव में योगाभ्यास किया। कार्यक्रम में बच्चे और कई अन्य लोग भी शामिल हुए। इस वर्ष का विषय 'योगा फॉर वेलनेस' है, जोकि शारीरिक और मानसिक कल्याण के लिए योग का अभ्यास करने पर केन्द्रित है।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned