UN महासभा में ब्रिटेन ने भारत को सराहा, कहा- कोरोना वायरस से लड़ने में दिया बड़ा योगदान

Highlights

  • कोरोना वायरस (Coronavirus)  के इलाज के लिए कारगर वैक्सीन को तैयार करने को लेकर भरोसेमंद उम्मीदवार के तौर पर भारत की तारीफ की।
  • ब्रिटिश कंपनी एस्ट्राजेनेका और भारत की सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने मिलकर वैक्सीन के करोड़ों डोज बनाने की योजना बनाई है।

लंदन। संयुक्त राष्ट्र (UN) में ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन (PM Boris Johnson) ने अपने संबोधन के दौरान भारत को अपना सच्चा मित्र बताया। उन्होंने भारत की तारीफ कर कहा कि कोरोना वायरस की वैक्सीन को तैयार करने उसका योगदान अहम रहेगा। उन्होंने बताया कि ब्रिटिश कंपनी एस्ट्राजेनेका और भारत की सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने मिलकर इस वैक्सीन के करोड़ों डोज बनाने की योजना बनाई है।

Saudi Arab में झील किनारे मिले 1.20 लाख वर्ष पुराने निशान, इंसान के होने के साक्ष्य मिले

दुनिया के सभी देशों तक होगी पहुंच

ब्रिटिश पीएम ने वैक्सीन विकसित कर ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रयासों का उल्लेख कर कहा कि अगर यह परीक्षण सफल रहता है तो इसकी पहुंच दुनिया के सभी देशों तक होगी। गौरतलब है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने भी संयुक्त राष्ट्र महासभा के अपने संबोधन के दौरान कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर ऐसी ही घोषणा की थी।

बोरिस जॉनसन ने शनिवार को अपने संबोधन में बताया कि ऐसी सौ संभावित वैक्सीन हैं जो सुरक्षा और प्रभाव से बधाओं को दूर करने की कोशिश कर रही हैं। ऑक्सफोर्ड द्वारा विकसित किया गया टीका परीक्षण के तीसरे दौर में है। कंपनी एस्ट्राजेनेका पहले ही इसकी करोड़ों खुराक के उत्पादन में जुटी हुई है। ऐसे में इसके सफल होने की सूरत में तेजी से टीके का वितरण होगा।

Afghanistan: यूनिवर्सिटी की परीक्षा में मजदूर की बेटी आई अव्वल, तालिबान का डर सता रहा

दुनिया से एकजुट होने की अपील की

जॉनसन ने वायरस जैसे एक आम दुश्मन से निपटने को लेकर अधिक अंतरराष्ट्रीय सहयोग की अपील की है। सभी से सीमा पार के देशों संग मनमुटाव को दूर करने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ाई के 9 माह बाद अब पूरी दुनिया को इसके खिलाफ एकजुट होना होगा।

coronavirus PM Narendra Modi
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned