Coronavirus: America में हजारों मौतों के बावजूद नहीं चेते Donald Trump, कहा- चर्च-मस्जिदों को जल्द खोल देना चाहिए

Highlights

  • अमरीका (America) में बीते 24 घंटे में 1200 से अधिक लोगों ने अपनी जान गंवा दी, अब तक 97000 की मौत हो चुकी है।       
  • डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने प्रांतों में गवर्नरों से अपील की है कि चर्च खोल देने चाहिए, क्योंकि अमरीका में प्रार्थनाओं की जरूरत है।

वाशिंगटन। अमरीका (US) में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के मामलों में कोई कमी नहीं देखने को मिल रही है। शुक्रवार को भी यहां 1200 से अधिक लोगों ने अपनी जान गंवा दी। इसके बाद मौत का आंकड़ा बढ़कर 97,600 से अधिक पहुंच चुका है। उधर अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने स्कूलों को खोलने की जिद के बीच शुक्रवार को ये कहकर सबको हैरान कर दिया कि वह चाहते है कि चर्चों और मस्जिदों को भी जल्द खोल देना चाहिए। ट्रंप ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि धार्मिक स्थलों को दोबारा से लोगों के लिए खोल देना चाहिए।

ट्रंप ने प्रांतों में गवर्नरों से अपील की है कि चर्च खोल देने चाहिए। क्योंकि अमरीका में प्रार्थनाओं की जरूरत है। हालांकि उन्होंने इससे पहले आदेश दिए थे कि लॉकडाउन में ढील का जिम्मा गवर्नर के हाथों में होगा। इसमें वे दखल नहीं देंगे। गौरतलब है कि ट्रंप पहले ही स्कूल खोलने की जिद को लेकर राज्यों के गवर्नरों को चिट्ठियां लिख चुके हैं और उनसे योजना की मांग भी कर रहे हैं। ट्रंप अपनी बात मनवाने को लेकर प्रांतों को मिलने वाली सहायता राशि में कटौती कर सकते हैं। हालांकि ट्रंप के फैसलों के खिलाफ गवर्नर कोर्ट जा सकते हैं।

दरअसल ट्रंप गिरती अर्थव्यवस्था से परेशान है। इस साल के अंत में राष्ट्रपति चुनाव हैं। ऐसे में अमरीकी राष्ट्रपति अपनी छवि को बेहतर बनाने की कोशिश में लगे हुए हैं। उनका मानना है कि लॉकडाउन को जल्द से जल्द हटाने से अमरीकी अर्थव्यवस्था में सुधार आ सकेगा। हालांकि इस महामारी में उन्हें कई बार चेतावनी मिल चुकी है कि अगर वह जल्दबाजी करते हैं तो स्थितियां और गंभीर हो सकती है।
अमरीका में लॉकडाउन खोलने को लेकर जब डॉक्टरों ने कहा कि किसी भी तरह की जल्दबाजी के गंभीर परिणाम हो सकते हैं तो ट्रंप ने इस बात को भी अनसुना कर दिया। उनका कहना है कि कोरोना से डरे बैगर नियमों का पालन करते हुए लॉकडाउन खोल देना चाहिए।

Donald Trump coronavirus
Show More
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned