ट्रंप के खिलाफ सिनेट में महाभियोग प्रक्रिया शुरू, 228 सांसदों ने पक्ष में वोट किया

  • 435 सदस्यीय निचले सदन में डेमोक्रेट्स बहुमत में हैं।
  • महाभियोग की प्रक्रिया 18 दिसंबर से शुरू की गई है।

वाशिंगटन। अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ ऐतिहासिक महाभियोग की सुनवाई मंगलवार को सीनेट में सत्तारूढ़ रिपब्लिकन पार्टी के सांसदों और विपक्षी डेमोक्रेट सदस्यों के समक्ष शुरू हुई। इस कार्यवाही से एक हफ्ते पहले डेमोक्रेट्स के बहुमत वाले निचले सदन में चल रही कार्यवाही को ऊपरी सदन सीनेट भेजने के पक्ष में सांसदों ने मतदान किया था।

सीनेट में कार्यवाही चलाए जाने के पक्ष में 228 सांसदों ने जबकि विपक्ष में 193 सांसदों ने वोट दिया था। महाभियोग को सीनेट भेजे जाने से पहले अमरीकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पैलोसी ने इसके तहत लगाए गए आरोपों पर हस्ताक्षर किए थे।

गौरतलब है कि सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत है। प्रतिनिधि सभा ने सात महाभियोग प्रबंधकों की नियुक्ति की है, जो ट्रंप को अमरीकी राष्ट्रपति पद से हटाने के लिए डेमोक्रेट्स के प्रस्ताव की पैरवी करेंगे।

435 सदस्यीय निचले सदन में डेमोक्रेट्स बहुमत में हैं। सदन में एक राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ जांच करने के लिए यूक्रेन पर दबाव बनाने के मामले में ट्रंप पर गंभीर आरोप लगे है। महाभियोग की प्रक्रिया 18 दिसंबर से शुरू की गई।

राष्ट्रपति के वकीलों ने सोमवार को अपने निवेदन में पूरी प्रक्रिया पर सवाल उठाया और अनुरोध किया कि सीनेट को जल्द और एकजुट होकर निंदा करनी चाहिए। उन्होंने मांग की कि जो भी आरोप राष्ट्रपति के खिलाफ लगाए गए हैं वह खारिज होने चाहिए और उन्हें तुरंत आरोपमुक्त घोषित करना चाहिए।

डेमोक्रेट सांसदों ने सीनेट के नेता मिच मैककोनेल पर आरोप लगाया कि वह इस प्रक्रिया के लिए प्रस्तावित नियम लाकर मामले को दबाने की कोशिश कर रहे हैं। रिपब्लिकन मैककोनेल ने कुछ बुनियादी नियम प्रस्तावित किये हैं जिसके तहत पहले चरण में गवाहों और सबूतों पर कुछ कड़े प्रतिबंध लागू होंगे और यह मामला तेजी से आगे बढ़ेगा। उन्होंने यह भी कहा है कि वह इस नियम को बदलने की डेमोक्रेट सांसदों की कोशिश को तुरंत रोक देंगे।

Donald Trump
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned