कमरे में पापा-मम्मी का शव पड़ा था और चार साल की बेटी बालकनी में रो रही थी

अमरीका के न्यू जर्सी में एक भारतीय दंपति का शव उनके घर से बरामद हुआ। दंपति के मरने की जानकारी पड़ोसियों को तब हुई, जब उनकी चार साल की बेटी बालकनी में लगातार रोती दिखाई दी। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई।

 

नई दिल्ली।

अमरीका में भारतीय पति-पत्नी का शव उनके घर से बरामद किया गया। यह घटना अमरीका के न्यू जर्सी में नार्थ अर्लिंग्टन बोरो के रिवरव्यू गार्डन परिसर में हुई। इस दंपति की मौत की जानकारी पड़ोसियों को तब हुई, जब उनकी चार साल की बेटी घर की बालकनी में लगातार रोए जा रही थी। इसके बाद पड़ोसी आगे आए और उन्होंने कमरे में बच्ची के पापा-मम्मी का शव देखा।

हालांकि, दंपति की मौत कैसे हुई, यह अभी स्पष्ट नहीं हुआ है। मौत को लेकर अलग-अलग बातें कही जा रही हैं। अमरीका मीडिया की मानें तो दंपति की उत्तर अर्लिंग्टन में छुरा घोंपने से मौत हुई। अब यह हत्या है या आत्महत्या इसका पता नहीं चल सका है।

कुछ अमरीकी मीडिया रिपोर्टों में बताया गया है कि पति-पत्नी में विवाद हो रहा था, जो बाद हिंसक रूप ले लिया। विवाद बढ़ा तो पति ने पहले अपनी पत्नी के पेट में चाकू मारा, इसके बाद दोनों के बीच झगड़ा बढ़ता गया और इस चाकूबाजी में खून अधिक बहने से दोनों की मौत हो गई।

अपार्टमेंट में 15 हजार से अधिक लोग रहते हैं
अमरीकी पुलिस के अनुसार, 32 वर्षीय बालाजी भरत रुद्रावर और 30 वर्षीय उसकी पत्नी आरती बालाजी रुद्रावर का शव न्यू जर्सी के नार्थ अर्लिंग्टन बोरो के रिवरव्यू गार्डन परिसर स्थित 21-गार्डन टेरेस अपार्टमेंट से मिला। इस अपार्टमेंट में 15 हजार से भी अधिक लोग रहते हैं।

मौत का कारण स्पष्ट नहीं, शरीर पर हैं चाकू के निशान
बालाजी के पिता भरत रुद्रावर के अनुसार, गत बुधवार को पड़ोसियों ने बालकनी में बच्ची को रोते हुए देखा। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस के आने पर घर को खोला गया। पति-पत्नी के शव बंद कमरे में पड़े थे। पुलिस मामले की जांच कर रही है और मौत की वजह तथा परिस्थितियों का पता लगाने की कोशिश कर रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति कुछ स्पष्ट हो सकती है। पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है कि दोनों के शव पर चाकू मारे जाने के निशान हैं।

सात महीने की गर्भवती थी आरती
भारत में रह रहे भरत रुद्रावर के मुताबिक, अमरीकी पुलिस ने मुझे गुरुवार को घटना की सूचना दी। मौत के कारणों पर उन्होंने अभी कुछ नहीं कहा है, मगर पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने और विस्तृत जांच के बाद स्थिति को बताया जाएगा। भरत के अनुसार, आरती सात महीने की गर्भवती थी। पहले हम लोग अमरीका गए थे। अब कुछ हफ्तों में फिर उनके साथ रहने के लिए अमरीका जाने वाले थे, मगर बीच में ही यह घटना हो गई। भरत ने कहा कि घटना क्यों और कैसे हुई, इस बारे में कुछ नहीं पता, क्योंकि दोनों खुशी से रह रहे थे। दोनों के पड़ोसी भी काफी अच्छे और मिलनसार स्वभाव के थे। दोनों के शव भारत आने में 8 से दस दिन लगेंगे। बच्ची की देखरेख भरत के कुछ दोस्त कर रहे हैं।

Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned