मेहुल चोकसी की पत्नी का बड़ा आरोप, पति का गायब होना सरकार की चाल

मेहुल चोकसी की पत्नी ने कहा कि यह संभव नहीं है कि बारबरा जाबारिका को मेहुल चोकसी की असली पहचान नहीं पता हो क्योंकि एक बच्चा भी इंटरनेट पर अपने दोस्तों की पहचान देखता है। उन्होंने सरकार पर अपने पति के गायब होने का आरोप लगाया।

नई दिल्ली। मेहुल चोकसी की पत्नी प्रीति चोकसी ने गुरुवार को कहा कि एंटीगुआ से उनके व्यवसायी पति का गायब होना और फिर वापस आना, इसके बाद "कथित प्रेमिका" बाबरा जाबारिका का दावा- सभी सरकार द्वारा प्रायोजित साजिश का हिस्सा हैं। प्रीति चोकसी ने आगे कहा कि यह साजिश विफल हो गई क्योंकि अब प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन के "झूठ" का पर्दाफाश हो गया है।

बारबरा के इस दावे का जिक्र करते हुए कहा कि वह कभी डोमिनिका नहीं गईं, प्रीति ने कहा, "डोमिनिका से क्यूबा जाने की यह कहानी कुछ और नहीं बल्कि गूगल सर्च का एक असफल नतीजा है, जिसमें लोग कॉमनवेल्थ ऑफ डोमिनिका के साथ डोमिनिकन रिपब्लिक ऑफ क्यूबा से भ्रमित हो गए क्योंकि क्यूबा, डोमिनिकन रिपब्लिक की दिशा में है और ये दोनों यानी कॉमनवेल्थ ऑफ डोमिनिका और डोमिनिकन रिपब्लिक विपरीत दिशाओं में मौजूद हैं।"

दरअसल, एंटीगुआ के प्रधानंमत्री ने पहले दावा किया था कि मेहुल चोकसी शायद अपनी गर्लफ्रेंड के साथ डोमिनिका चला गया होगा। मेहुल चोकसी के साथ क्या हुआ और वह डोमिनिका में कैसे पहुंचा, इसके उल्टे परिणामस्वरूप डोमिनिका ने अब व्यवसायी को एक प्रतिबंधित अप्रवासी घोषित कर दिया है।

प्रीति चोकसी ने क्या कहा?

प्रीति चोकसी ने बारबरा जाबारिका के इस दावे को खारिज कर दिया कि मेहुल ने उससे एक झूठे नाम से दोस्ती की थी। प्रीति पत्नी ने कहा कि टेक्नोलॉजी के इस युग में सोशल मीडिया पर किसी की भी पहचान की पुष्टि की जा सकती है।

उन्होंने यह सवाल भी किया कि जॉली हार्बर से अपहरण के सीसीटीवी फुटेज क्यों नहीं मिले। अगर वह डोमिनिका जा रहा होता तो अपना पासपोर्ट, कार की चाबियां पीछे क्यों छोड़ता।

बारबरा जाबारिका ने क्या कहा?

बारबरा जाबारिका ने कहा है कि वह अगस्त से मेहुल चोकसी को राज के नाम से जानती हैं। करोड़ों रुपये के घोटाले में भारत में वांछित व्यवसायी चाहता था कि वह हीरे के कारोबार में शामिल हो जाए। बारबरा ने यह भी कहा है कि वह उसकी प्रेमिका नहीं थीं। बारबरा ने यह भी कहा कि एक बार मेहुल चोकसी ने उनसे क्यूबा के बारे में बात की थी लेकिन यह भागने की योजना जैसा कुछ नहीं था।

क्या कहते हैं मेहुल चोकसी

मेहुल चोकसी ने कहा कि 23 मई की शाम को उनका अपहरण कर लिया गया था और उसने बारबरा, गुरजीत भंडाल और नरेंद्र सिंह सहित कुछ लोगों के नाम लिए थे। चोकसी ने कहा कि उन्हें 23 मई की शाम एक नौका पर ले जाया गया। 24 मई को सुबह करीब 10 बजे एक नाव पर उसे डोमिनिका के तटरक्षक बल को सौंप दिया गया।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned