महामारी में White House की रसोई का खाना जरूरतमंदों को बांट रहीं मेलानिया ट्रंप

Highlights

  • अमरीका की प्रथम महिला ने बिना घोषणा किए अग्निशामकों (Fire fighter) और आपातकालीन मेडिकल सेवा कर्मियों से मुलाकात की।
  • मेलानिया ट्रंप (Melania Trump) पहली बार मास्क पहने सार्वजनिक स्थानों पर खाना बांटने पहुंचीं थीं।

वाशिंगटन। नवंबर में होने वाले अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव (US Presidential Election) को लेकर प्रचार अभियान जोरों पर है। महामारी के बावजूद प्रत्याशी सोशल मीडिया और विभिन्न तरह के कार्यक्रमों में शरीक होकर जनता को संदेश देने की कोशिश में जुटे हुए हैं। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की काम में मदद उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप (Melania Trump) कर रही हैं। वे जरूरतमंदों तक वाइट हाउस की रसोई में बने खाने को पहुंचा रही हैं। मेलानिया पहली बार मास्क पहने सार्वजनिक स्थानों पर खाना बांटने पहुंचीं थीं।

कई जगहों का दौरा करती रहती थीं

अपने युवा कल्याण पहल बी वेस्ट (Be Best) का प्रचार-प्रसार करने के लिए मेलानिया ट्रंप सामान्य तौर पर स्कूल, अस्पताल और दूसरी जगहों का दौरा करती रहती थीं। मगर महामारी में स्कूल बंद हो जाने और अस्पताल में भीड़ कम होने के बाद मेलानिया ट्रंप ने प्रेरणा देने के लिए वाइट हाउस के रसोईघर का रुख किया।

इस दौरान अमरीका की प्रथम महिला ने बिना घोषणा किए अग्निशामकों और आपातकालीन मेडिकल सेवा कर्मियों से मुलाकात की। मेलानिया ट्रंप वहां अपने साथ वाइट हाउस से तैयार खाना लेकर पहुंचीं। फेस मास्क, हैंड सैनिटाइजर को यहा पर वितरित किया गया। इसके अलावा वो पुलिस कर्मियों से भी मिलीं।

ट्रंप सरकार की काफी आलोचना हुई

बीते दिनों नस्लीय आंदोलन को लेकर ट्रंप सरकार की काफी आलोचना हुई है। इस दौरान ट्रंप के दिए बयानों को लेकर विवाद भी उत्पन्न हुआ। डोनाल्ड ट्रंप ने ये साफ कर दिया था कि वो पुलिस और दूसरे कानून प्रवर्तन के साथ खड़े हैं।
मेलानिया ट्रंप ने अपने पति के संदेश का दोहराया और डेमोक्रेटिक नेताओं पर अशांति का आरोप लगाया है।

जीवन को खतरे में डाला

एक लिखित बयान में मेलानिया ट्रंप ने कहा कि वह और अमरीकी राष्ट्रपति अग्निशामकों, पुलिस कर्मियों, ईएमएस कर्मियों और दूसरे लोगों जिन्होंने पड़ोसी देशों से रक्षा करने के लिए अपने जीवन को खतरे में डाला है, उनके साथ खड़े रहेंगे।

मेलानिया ट्रंप ने लोगों से सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहनने का आग्रह किया है। इसके साथ सोशल डिस्टेंसिंग की अपील की है। मई में मेलानिया ट्रंप ने वाइट हाउस के कार्यकारी रसोइयों और दूसरे स्टाफ कर्मचारियों को 150 खाने के डब्बे डिलिवर करने को कहा। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के चिल्ड्रन इन के लिए ये डब्बे भेजे गए। गौरतलब है कि विपक्ष के बयानों को लेकर ट्रंप सरकार चौतरफा घिर गई है। महामाही के कारण लाखों लोगों की जान जा चुकी है। ऐसे में ट्रंप अब अपनी छवि सुधारने के लिए जनता के बीच सफाई देने में लगे हैं।

Donald Trump
Show More
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned