'हाउडी मोदी' में राष्ट्रगान गाएगा भारतीय मूल का ये खास लड़का, परफॉर्मेंस को लेकर है काफी उत्साहित

  • 16 वर्षीय भारतीय मूल के बच्चे को है गंभीर बीमारी
  • स्पर्श के जिंदगी पर बन चुकी है डॉक्यूमेंट्री

ह्यूस्टन। अमरीका के 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में एक 16 वर्षीय भारतीय मूल का किशोर भारतीय राष्ट्रगान गाएगा। एक दुर्लभ बीमारी से जूझ रहा यह बच्चा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए उत्साहित है। हमेशा व्हीलचेयर पर रहने वाले स्पर्श शाह ने अपनी हालत के कारण अपनी क्रिएटिविटी में कमी नहीं आने दिया। न्यूजर्सी में रहने वाले शाह एक रैपर, गायक, गीतकार और प्रेरणादायक वक्ता हैं।

गंभीर बीमारी के साथ हुआ था जन्म

शाह का जन्म आस्टियोजेनेसिस इम्परफेक्टा नाम की बीमारी के साथ हुआ। इस बीमारी में हड्डियां बेहद कमजोर होती हैं और आसानी से टूट जाती हैं। बता दें कि, शाह की पिछले कुछ वर्षों में 130 से अधिक हड्डियां टूट चुकी हैं। लेकिन हिम्मत की मिसाल शाह अगला एमिनेम बनने की चाहत रखते हैं। उनका सपना है कि वो एक अरब लोगों के सामने परफॉर्म करें।

परफॉर्मेंस को लेकर काफी उत्साहित है स्पर्श

शाह 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में राष्ट्रगान गाने को लेकर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने को लेकर उत्साहित हैं। उन्होंने कहा, 'इतने सारे लोगों के सामने राष्ट्रगान गाना मेरे लिए बहुत बड़ी बात है। मैं राष्ट्रगान जन गण मन गाने के लिए उत्साहित हूं। मैंने पहली मोदीजी को मैडिसन स्क्वायर गार्डन में देखा था, मैं उनसे मिलना चाहता था, लेकिन मैं उन्हें केवल टीवी पर देख सका था।' मार्च 2018 में स्पर्श शाह की जिंदगी पर आधारित एक डॉक्युमेंट्री 'ब्रिटल बोन रैपर' भी रिलीज हुई थी।

एमिनेम के गीत 'नॉट अफ्रेड' को कवर करके बंटोरा था अटेंशन

शाह ने आगे कहा, 'लेकिन ईश्वर की कृपा से मैं उनसे मिलने जा रहा हूं। मैं राष्ट्रगान गाने के लिए उत्साहित हूं।' गौरतलब है कि शाह ने पहली बार लोगों का ध्यान तब खींचा जब उन्होंने एमिनेम के गीत 'नॉट अफ्रेड' को कवर करते हुए एक वीडियो रिकॉर्ड किया, जिसे ऑनलाइन 6.5 करोड़ से अधिक बार देखा गया। यहां तक कि वायरल हुए इस वीडियो को एमिनेम के रिकॉर्ड लेबल ने भी जब देखा तो स्पर्श शाह के बारे में ट्वीट किया था।

Show More
Shweta Singh Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned