सूडान: प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी के बाद Civil Disobedience कैंपेन, खत्म हो रही सेना से बातचीत की गुंजाइश

सूडान: प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी के बाद Civil Disobedience कैंपेन, खत्म हो रही सेना से बातचीत की गुंजाइश

Shweta Singh | Publish: Jun, 09 2019 12:35:16 PM (IST) | Updated: Jun, 10 2019 10:07:36 AM (IST) विश्‍व की अन्‍य खबरें

  • सूडान में काफी दिनों से जारी है लोकतंत्र समर्थक आंदोलन
  • अभियान की मध्यस्ता कर रहे तीन नेताओं को सेना ने किया गिरफ्तार
  • आंदोलनकारियों ने सविनय अवज्ञा अभियान का किया आह्वान

नई दिल्ली। लंबे समय से सुलग रहे सूडान में लोकतंत्र समर्थक आंदोलन का नेतृत्व करने वाले समूह ने सविनय अवज्ञा के एक राष्ट्रव्यापी अभियान का आह्वान किया है। यह अभियान सैन्य कार्रवाई में दर्जनों नागरिकों की मौत के बाद लिया गया। जानकारी मिल रही है कि यह कैंपेन रविवार से शुरू होकर नागरिक सरकार के स्थापित होने तक जारी रहेगा।

तीन प्रदर्शनकारी विपक्षी नेताओं की गिरफ्तारी

इस अभियान के ऐलान के बाद ही सेना ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। ये तीन इस अभियान की मध्यस्ता कर रहे थे। इसके लिए इन्होंने इथियोपिया प्रधानमंत्री से भी मुलाकात की थी, जिससे शांति वार्ता दोबारा शुरू हो चुकी है। गिरफ्तार हुए लोगों में विपक्ष के नेता मोहम्मद इस्मत, बागी समूह SPLM-N के इस्माइल जलाब और उनके प्रवक्ता मुबारक अर्दोल शामिल हैं। इस्मत को शुक्रवार इथियोपिया PM से मुलाकात के बाद और बाकी दोनों को शनिवार को गिरफ्तार किया गया।

सूडान: प्रदर्शनकारियों पर सुरक्षाबलों ने की गोलीबारी, अब तक 60 से अधिक की गई जान

Sudan Crisis

जर्मनी: 85 मरीजों को जहर का इंजेक्शन देकर नर्स ने ली थी जान, अब आजीवन कारावास की सजा

खून-खराबे के बाद नेताओं का सेना से बातचीत को इनकार

वहीं, पिछले दिनों सैन्य कार्रवाई के बाद प्रदर्शन कर रहे नेताओं ने ट्रांजिशनल मिलिट्री कॉउन्सिल (TMC) से किसी तरह की बातचीत से इनकार कर दिया है। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि वो इस खून-खराबे के बाद सेना पर भरोसा नहीं कर सकते। बता दें कि सूडान की राजधानी खार्तूम इन दिनों हिंसा की आग में जल रही है। सुरक्षाबलों ने लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों पर सख्त कार्रवाई की, जिसमें दो दिनों के अंदर 60 से अधिक लोगों की जान गई। यही नहीं, सुरक्षाबलों की सख्ती में 300 से ज्यादा लोग घायल भी हुए।

सैन्य कार्रवाई का वीडियो भी आया था सामने

खार्तूम में सेना मुख्यालय के बाहर काफी समय से धरना-प्रदर्शन जारी है। इस हिंसा का एक वीडियो भी सामने आया, जिसमें धुआं और दहशत साफ दिखाई दे रहे था। सेना खार्तूम में विपक्षी धरने को काबू करने की कोशिश में हिंसक होती देखी गई।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned