मेक्सिको में जन्में 3 बच्चे निकले कोरोना पॉजिटिव, मां-बाप का टेस्ट आया नेगेटिव, मामले को देख डॉक्टर हैरान

Highlights
-जहां 17 जून को जन्मे ट्रिपलेट्स यानी एक साथ जन्मे तीन बच्चों ने सबको हैरान कर दिया है
- हॉस्पिटल में हड़कंप तब मचा जब माता-पिता का कोरोना वायरस टेस्ट (Coronavirus Test) किया गया साथ ही 3 बच्चों का भी कोरोना टेस्ट हुआ
- हैरान कर देने वाली बात यह थी कि माता-पिता कोरोना नेगेटिव (Coronavirus Negative) निकले, वही बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus Outbreak) का कहर लगातार जारी है। इस महामारी की चपेट में पूरी दुनिया है। हर रोज संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इस बीच एक अजीबोगरीब खबर सामने आई है। जिसने चिकित्सा जगत के साथ लोगो को भी अचंभित कर दिया है। यह मामला है मेक्सिको का, जहां 17 जून को जन्मे ट्रिपलेट्स यानी एक साथ जन्मे तीन बच्चों ने सबको हैरान कर दिया है। हॉस्पिटल में हड़कंप तब मचा जब माता-पिता का कोरोना वायरस टेस्ट (Coronavirus Test) किया गया साथ ही 3 बच्चों का भी कोरोना टेस्ट हुआ। हैरान कर देने वाली बात यह थी कि माता-पिता कोरोना नेगेटिव (Coronavirus Negative) निकले, वही बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए। डॉक्टर्स इस बात से हैरान है कि ये नवजात आखिर कैसे वायरस के सम्पर्क में आए।


जांच कर रहे स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि नवजात में संक्रमण मां और पिता से नहीं फैला क्योंकि दोनों की रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं आई। नवजातों के जन्म के समय यह आशंका जताई गई थी इनमें कोरोना का संक्रमण एसिम्प्टोमैटिक मां से फैला, लेकिन जांच में इसकी पुष्टि नहीं हुई।

दुनिया का पहला मामला आया सामने

एक अंग्रेजी अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक मेक्सिको की स्वास्थ्य सचिव मोनिका रंगेल के मुताबिक इस पूरे मामले की छानबीन जारी है क्योंकि ये दुनिया में यह पहला मामला सामने आया है। स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि उन्होंने इससे पहले ऐसा कोई मामला ना तो देखा था और ना ही सुना है।

पैदा होने के 4 घंटे बाद हुआ टेस्ट

इन ट्रिपलेट में एक लड़की और दो लड़के हैं। पैदा होने के चार घंटे बाद सान लुइस पोटोसी में इनका कोरोना वायरस टेस्ट कराया गया था जहां इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

जांच करने का किया आग्रह

मोनिका रंगेल ने एक कॉन्फ्रेंस के दौरान बयान दिया कि, 'बच्चों के माता-पिता के कोरोना वायरस टेस्ट नेगेटिव आए और हमारा पूरा ध्यान इस पर है। हमने विशेषज्ञों से इस मामले की जांच करने का आग्रह किया है।'

इस वजह से फैल सकता है संक्रमण

अमेरिका के येल स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं के मुताबिक, गर्भनाल से कोरोना का संक्रमण फैलने का मामला भी सामने आ चुका है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, नवजात में कोरोना का संक्रमण तब हो सकता है अगर डिलीवरी के बाद वह किसी संक्रमित इंसान के सम्पर्क में आया हो। इसके अलावा कोरोना से संक्रमित मां की कोख से गर्भनाल के जरिए वायरस नवजात तक पहुंच सकता है।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned