ट्रंप ने कहा, अफगानिस्तान में तैनात अमेरिकी सैनिक क्रिसमस तक घर पर हों

  • अफगानिस्तान में लगभग 2,400 अमेरिकी सैनिकों की मौत हुई है।
  • युद्धग्रस्त देशों में सैनिकों की संख्या को कम करना ट्रंप के चुनावी वादों का हिस्सा रहा है

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संकेत दिए हैं कि अफगानिस्तान में तैनात अमेरिकी सैनिक क्रिसमस पर घर पर हो सकते हैं। पिछले महीने की घोषणा की गई थी कि वाशिंगटन नवंबर तक युद्धग्रस्त देश से हजारों सैन्य कर्मियों को वापस बुलाएगा। ट्रंप ने बुधवार रात को ट्वीट कर बताया कि "हमें अपने बहादुर पुरुषों और महिला सैनिकों की शेष बची संख्या को क्रिसमस पर घर पर लाना चाहिए।" सैनिकों की संख्या को कम करना ट्रंप के चुनाव प्रचार के वादों का हिस्सा रहा है। अफगानिस्तान में युद्ध में लगभग 2,400 अमेरिकी सैनिकों की मौत हुई है।
पिछले महीने यूएस सेंट्रल कमांड के कमांडर केनेथ मैकेंजी ने कई मीडिया आउटलेट्स को बताया कि अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों की संख्या को नवंबर की शुरुआत में लगभग 4,500 के स्तर तक घटा दिया जाएगा। फरवरी के अंत में हस्ताक्षरित यूएस-तालिबान समझौते की शर्तों को पूरा करते हुए वाशिंगटन ने अफगानिस्तान में सैनिकों की संख्या 8,000 के करीब बनाए रखी है।
वहीं पेंटागन के प्रमुख मार्क ग्रैफ ने भी अगस्त में पुष्टि की थी कि नवंबर के अंत तक सैनिकों की संख्या को 5,000 से कम कर दिया जाएगा। मई 2021 तक अफगानिस्तान से अमेरिकी सैन्य बलों की पूर्ण वापसी के लिए कहा गया था, हालांकि ऐसा तभी मुमकिन होगा, जब तालिबान इस समझौते की शर्तों को पूरा करेगा।

Donald Trump
विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned