UN रिपोर्ट में खुलासा, अफगानिस्तान में सक्रिय हैं 6,500 पाकिस्तानी आतंकी

Highlights

  • संयुक्त राष्ट्र (UN) ने चिंता जताई है कि इतनी बड़ी तादात में आतंकियों की मौजूदगी दोनों देशों के लिए खतरा है।
  • तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान में पाक (Pakistan) के अलावा बांग्लादेश, भारत और म्यामांर के 200 आतंकी शामिल हैं

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने एक चौंकाने वाली रिपोर्ट पेश की है। रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि पाकिस्तान के करीब छह से साढ़े छह हजार आतंकी अफगानिस्तान में सक्रिया हैं। इनमें से अधिकतर का संबंध तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान से है। रिपोर्ट पर चिंता व्यक्त की गई है कि इतनी बड़ी तादात में आतंकियों की मौजूदगी दोनों देशों के लिए खतरा है। अल-कायदा (AQIS) तालिबान के साथ अफगानिस्तान के निमरूज, हेलमंद और कंधार प्रांतों से काम करता है।

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की एक रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान के करीब छह से साढ़े छह हजार आतंकी अफगानिस्तान में सक्रिय हैं। इनमें से अधिकतर का संबंध तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान से है। रिपोर्ट (UN report) में यह भी कहा गया है कि इतनी बड़ी तादाद में आतंकियों की मौजूदगी दोनों देशों के लिए खतरा है। इसमें कहा गया है कि अल-कायदा (AQIS) तालिबान के साथ अफगानिस्तान के निमरूज आतंकवाद के सक्रिय रूप हैं।

तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान में पाक के अलावा बांग्लादेश, भारत और म्यामांर के 150 से 200 के बीच आतंकी शामिल हैं। इस संगठन का मौजूदा सरगना ओसामा महमूद है। उसने आसिम उमर के मारे जाने के बाद संगठन का नेतृत्व किया है। आतंकी संगठन अपने पूर्व सरगना की मौत का बदला लेने के लिए क्षेत्र में जवाबी कार्रवाई की तैयारी में लगा हुआ है। गौरतलब है कि अफगानिस्तान में मौजूद तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्‍तान (टीटीपी) ने हाल ही में पाकिस्तान में कई हमलों को अंजाम दिया है।

रिपोर्ट के अनुसार यह संगठन कई आतंकी संगठनों की मदद करता है। यही नहीं तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्‍तान के कई आतंकी इस्लामिक स्टेट इन इराक एंड द लैवेंट खुरासान (आईएसआईएल-के) में भी शामिल हुए थे। अफगानिस्तान में कई अन्य आतंकी संगठन भी सक्रिय हैं। शांति प्रस्ताव को लेकर तालिबान से अमरीका की बातजीत जारी हैं। अमरीका चाहता है कि यहां पर शांति प्रयासों को बल मिलना चाहिए ताकि वह अपनी सेना को अफगानिस्तान से निकाल ले। इसके लेकर वह भी काफी बातचीत अमरीका कर चुका है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned