भारत में कोरोना संक्रमण बेकाबू होने पर अमरीका और ​ब्रिटेन में खौफ, नागरिकों को यात्रा से बचने दी सलाह

अमरीका ने एडवाइजरी जारी कर कहा कि पूरी तरह से टीका लगाए यात्रियों को भी संक्रमित होने का खतरा है। ऐसे में यात्रियों को भारत की यात्रा को टाल देना चाहिए।

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस के मामलों में वृद्धि के बीच, संयुक्त राज्य अमरीका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (CDC) ने अपने नागरिकों से कहा है कि वे भारत की यात्रा को टाल दें। संस्था का कहना है कि यात्रियों को भारत की सभी यात्रा से बचना चाहिए। यहां तक कि पूरी तरह से टीका लगाए यात्रियों को भी संक्रमित होने का खतरा है।

Read More: भारत सरकार ने वैक्सीन का प्रोडक्शन बढ़ाने के लिए दवा कंपनियों को दिए 4500 करोड़ रुपए

महामारी के कारण यात्रियों की जान जोखिम में

अमरीकी विदेश विभाग ने सोमवार को एक बयान में कहा कि उन्होंने ऐसे देशों का एक वर्ग तैयार किया है, जहां पर जाना खतरनाक हो सकता है। दूसरे देशों में यात्रा से पहले यात्री को एक गाइडेंस दी जा रही है। इसे "डू नॉट ट्रैवल" के नाम से जारी किया गया है। इस वर्ग में 80 प्रतिशत देश ऐसे हैं जहां पर COVID-19 महामारी के कारण यात्रियों की जान जोखिम में हैं। विभाग ने एक बयान में बताया कि इस अपडेट से दुनिया भर के लगभग 80 प्रतिशत देशों को लेवल 4 की श्रेणी में रखा गया है।

अधिकतर अमरीकियों को पहले से ही COVID-19 प्रतिबंधों के कारण यूरोप की यात्रा करने से रोका गया था। वाशिंगटन ने लगभग सभी गैर-अमरीकी नागरिकों पर भी रोक लगाई है। इनमें यूरोप, चीन, ब्राजील, ईरान और दक्षिण अफ्रीका के अधिकांश देश हैं।

Read More: केंद्र सरकार का बड़ा फैसला: एक मई से 18 साल से ऊपर वालों को लगेगी कोरोना वैक्सीन

ब्रिटेन की "रेड लिस्ट" में जोड़ा

वहीं भारत में कोरोना विस्फोट होने के बाद प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपनी भारत यात्रा को रद्द कर दिया है। इसके साथ ब्रिटेनवासियों की यात्रा पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। स्वास्थ्य सचिव मैट हैनकॉक ने कहा कि ब्रिटेन या आयरिश नागरिकों को छोड़कर भारत से आने वाले सभी देशों पर प्रतिबंध लगाते हुए भारत को ब्रिटेन की "रेड लिस्ट" में जोड़ा जा रहा है। इन्हें लौटने पर 10 दिनों के लिए सरकार द्वारा अनुमोदित संगरोध होटल में रहने का भुगतान करना होगा।

क्वाररंटीन सेंटर में रहना होगा

हैनकॉक ने कहा कि ब्रिटेन या आयरिश नागरिकों को छोड़कर भारत से सभी आगमन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। भारत को ब्रिटेन की "रेड लिस्ट" में जोड़ा जा रहा है। यूके और आयरिश नागरिकों को 10 दिनों के लिए सरकार द्वारा तैयार क्वाररंटीन सेंटर में रहना होगा। इसके साथ यहां पर रहने के लिए भुगतान करना होगा।

भारत दूसरे स्थान पर

भारत ने सोमवार को 273,810 नए संक्रमण के मामले सामने आए हैं। यहां अचानक महामारी के दैनिक मामलों में बढ़ोतरी हुई है। यहां पर अब तक 15 मिलियन से अधिक संक्रमण के मामले आ चुके हैं। संक्रमण मामले के ये आंकड़े बताते हैं कि संयुक्त राज्य अमरीका के बाद भारत दूसरे स्थान पर है।

Coronavirus in india coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned