Coronavirus: सर्दियों में संक्रमण का खतरा बढ़ा, सांस से निकलने वालीं बूंदों से ज्यादा फैलेगी महामारी

Highlights

  • सर्दियों में वायरस जमीन पर गिरने से पहले 19.7 फुट तक जा सकता है।
  • वायरस कुछ मिनट से लेकर कुछ दिन तक जिंदा और संक्रामक रह सकता है।

नई दिल्ली। भारत में सर्दियों में कोरोना वायरस (Coronavirus) का नया रूप सामने आ सकता है। ऐसे में सरकार महामारी से ऐहतियात बरतने की अपील कर रही है। वैज्ञानिकों के अनुसार घर में जिस तरह से हवा के जरिए संक्रमण फैलता है, उसी तरह से सर्दियों में यह वायरस सांस से निकलने वालीं बूंदों से ज्यादा फैल सकता है। नैनो जर्नल में प्रकाशित शोध के अनुसार, मौजूदा समय में जिस तरह के नियमों का पालन हो रहा है, वह इसकी रोकथाम के लिए काफी नहीं है।

19 फुट दूर तक जा सकता है वायरस

अमरीका के यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के वैज्ञानिकों के अध्ययन में पाया गया है कि कई तरह की परिस्थितियों में सांस से निकलने वाली बूंदे छह फुट से अधिक की दूरी तय करती हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार सर्दियों में वायरस जमीन पर गिरने से पहले 19.7 फुट तक जा सकता है। यही नहीं इस स्थिति में वायरस कुछ मिनट से लेकर कुछ दिन तक जिंदा और संक्रामक रह सकता है।

दस माइक्रोन से भी छोटे वायरस

प्रमुख शोधकर्ता लेई झाओ का कहना है कि बूंदों में मौजूद वायरस 10 माइक्रोन से भी बहुत छोटे हैं। ये घंटों हवा में रह सकते हैं। ऐसे में यह वायरस आसानी से सांसो के रास्ते अंदर जा सकता है। गर्मियों की तुलना में सर्दी में बूंदों में मौजूद वायरस अधिक खतरनाक हो जाते हैं। ऐसे समय में स्थानीय स्तर पर जरूरी इंतजाम और नियम बनाया जाए तो संक्रमण के प्रसार पर रोक संभव है। मास्क पहनना जरूरी है।

अमरीका-यूरोप में दोबारा फैल रहा संक्रमण

कई देशों में सर्दी की दस्तक के साथ कोरोना वायरस लोगों को गिरफ्त में लेने लगा है। अमरीका और यूरोप में अचानक संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। इसके साथ मरने वालों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है। वहीं स्पेन, फ्रांस, ब्रिटेन में हालात बिगड़ रहे हैं। बीते हफ्ते इन देशों में अमरीका के मुकाबले प्रति व्यक्ति अधिक मामले दर्ज हुए हैं।

coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned