ब्राजील में ऑक्सफोर्ड वैक्सीन की ट्रायल के दौरान वॉलंटियर की मौत

  • ब्राजील में कोरोना वैक्सीन की टेस्टिंग में शामिल एक वॉलंटियर की मौत हो गई है।
    ब्राजील में एस्ट्रोजेनिका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी कोरोना वैक्सीन का ट्रायल कर रही हैं।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
साओ पाओलो। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और ऑस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित कोविड-19 वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के दौरान ब्राजील में एक वॉलंटियर की मौत हो गई। ब्राजील के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वैक्सीन का ट्रायल जारी रहेगा। ऑक्सफोर्ड की यह वैक्सीन दुनिया में इस्तेमाल के लिए सबसे पहले उपलब्ध होने की दौड़ में शामिल है। भारत में इसका निर्माण सीरम इंस्टीट्यूट में किया जा रहा है।

Singapore के वैज्ञानिकों ने बनाई अनोखी तकनीक, सांस के परीक्षण से पता चलेगा कोरोना संक्रमण

ऑक्सफोर्ड की तरफ से जारी बयान में भी कहा गया कि वैक्सीन के सुरक्षित होने को लेकर कोई शंका नहीं है, इसलिए क्लिनिकल ट्रायल जारी रहेगा। स्वास्थ्य अधिकारी ने ट्रायल की गोपनीयता का हवाला देते हुए इससे संबंधित विस्तृत जानकारी देने से इनकार किया और सिर्फ इतना बताया कि मरनेवाला वॉलंटियर ब्राजीली ही है। ऑस्ट्राजेनेका ने कोई टिप्पणी करने से इनकार किया।

भारत में NGO पर प्रतिबंधों और अनुदान नियमों को लेकर यूएन ने जताई चिंता

पहले ब्रिटेन के वॉलेंटियर को हुआ था साइड इफेक्ट
पहले ब्रिटेन में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैक्सीन परीक्षण को रोकना पड़ा था। दरअसल, ट्रायल के दौरान एक शोधकर्ता वॉलंटियर को साइड इफेक्ट होने से वह बीमार हो गए थे। हालांकि, शोधकर्ताओं का कहना है जब बड़े पैमाने पर परीक्षण होता है तो साइड इफेक्ट का होना सामान्य है।

लद्दाख में चल रहे तनाव पर भड़के अमरीकी रक्षा मंत्री, कहा- भारत पर सैन्य दबाव बना रहा है चीन

वैज्ञानिक कोरोना वायरस महामारी के तोड़ को ढूढ़ने में लगे हुए हैं। दुनिया भर में करीब एक दर्जन जगहों पर कोरोना वैक्सीन का परीक्षण चल रहा है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन परीक्षण के मामले में सबसे आगे है। वैक्सीन के तीसरे चरण के परीक्षण में करीब 30 हजार वॉलेंटियर शामिल हैंं।

Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned