World Milk Day 2021: जानिए कब और क्यों मनाया जाता है विश्व दूध दिवस, क्या है इसका महत्व

World Milk Day 2021: संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) द्वारा इस दिन को विश्व दुग्ध दिवस के रूप में मनाया जाता है, ताकि डेयरी क्षेत्र का जश्न मनाया जा सके और वैश्विक खाद्य के रूप में दूध उत्पादों के महत्व को उजागर किया जा सके।

नई दिल्ली। दूध हमारे खानपान का एक मुख्य आहार है। दूध से हमें प्रोटीन मिलता है और यह हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है। दूध से कई प्रकार के अन्य खाद्य उत्पाद बनाए जाते हैं। हम हर दिन दूध पीते हैं या फिर दूध से बना कोई न कोई उत्पाद खाते हैं..

पर क्या आपको पता है कि विश्व दूध दिवस कब और क्यों मनाया जाता है? इसका महत्व क्या है? चलिए आपको बताते हैं विश्व दूध दिवस से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें..

यह भी पढ़ें :- विश्व दुग्ध दिवस : एक डेयरी की सफलता देख पूरा गांव दुग्ध उत्पादन का बन रहा मॉडल, सफलता की ऐसी है कहानी

1 जून को मनाया जाता है विश्व दूध दिवस

आपको बता दें कि हर साल 1 जून को विश्व दूध दिवस के तौर पर मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) द्वारा इस दिन को विश्व दुग्ध दिवस के रूप में मनाया जाता है, ताकि डेयरी क्षेत्र का जश्न मनाया जा सके और वैश्विक खाद्य के रूप में दूध उत्पादों के महत्व को उजागर किया जा सके। इसकी शुरुआत 1 जून 2000 को हुई थी।

इस दिन दुनियाभर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। हालांकि, विश्व दुग्ध दिवस 2021 के लिए कोई भी प्रमुख वैश्विक कार्यक्रम आयोजित नहीं किया गया है। विश्व दुग्ध दिवस की वेबसाइट ने कोरोना महामारी के कारण दुनिया भर के कार्यक्रम आयोजकों से सोशल मीडिया अभियानों और कार्यक्रमों में स्थानांतरित होने का आग्रह किया है।

क्या है इसका महत्व?

विश्व दुग्ध दिवस के पीछे महत्वपूर्ण उद्देश्य लोगों को हमारे जीवन में दूध और डेयरी उत्पादों के महत्व के बारे में जागरूक करना है। पोषण का एक बड़ा स्रोत होने के अलावा दूध और डेयरी उत्पाद दुनिया भर में लगभग एक अरब लोगों के लिए आजीविका का साधन भी हैं।

डेयरी उत्पादों का बाजार वैश्विक अर्थव्यवस्था का एक बहुत ही महत्वपूर्ण घटक है। यह दिन भारत के लिए भी विशेष महत्व रखता है क्योंकि भारत दुनिया भर में दूध के सबसे बड़े उत्पादकों में से एक है।

यह भी पढ़ें :- कोरोना ने बदल दिया दूध का व्यवसाय, मिलावट करने वाले हावी, पशुपालक को नुकसान

क्या है 2021 का थीम?

बता दें कि हर साल इस दिन को मनाने के लिए एक थीम तय किया जाता है, जिसके अनुसार ही कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। इस बार विश्व दुग्ध दिवस 2021 को पर्यावरण, पोषण और सामाजिक-आर्थिक सशक्तिकरण के साथ-साथ डेयरी क्षेत्र में स्थिरता पर ध्यान केंद्रित करने वाली थीम के साथ मनाया जाएगा।

इस विषय का उद्देश्य नियमित रूप से आहार में दूध और डेयरी उत्पादों को शामिल करने के बारे में हर साल अधिक से अधिक जागरूकता फैलाना है। संगठन का उद्देश्य डेयरी क्षेत्र के लिए कम कार्बन भविष्य बनाने में मदद करके डेयरी फार्मिंग को फिर से शुरू करना है।

महान लोगों द्वारा दूध के संबंध में कही गई महत्वपूर्ण बातें

- किसी भी समुदाय के लिए शिशुओं को दूध पिलाना से बेहतर कोई निवेश नहीं है: विंस्टन चर्चिल
- अधिकांश उत्तरी अमरीकियों की तरह मैं इस धारणा पर बड़ा हुआ हूं कि दूध पहला भोजन है, और हर किसी को इसे पसंद करना चाहिए क्योंकि यह बड़ा होने और स्वस्थ रहने के लिए बहुत अच्छा और महत्वपूर्ण है : मार्विन हैरिस

यह भी पढ़ें :- World Milk Day Special : वर्ष 1972 से राजधानी दिल्ली को दूध पिला रहा अजमेर

- मुझे दूध बहुत पसंद है! मैं रोज एक गिलास दूध पीने की बात करता हूं। तो अब जिसने दूध वाली मूंछों के साथ दूध का विज्ञापन किया, वह मेरे हीरो हैं: नताली पोर्टमैन
- मेरे पास फलों के पेड़ हैं.. ताजा दूध, दही के लिए गायें.. मेरा अपना गेहूं.. मैं मूल रूप से आत्मनिर्भर हूं: इमरान खान

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned