Janta Curfew: मुरादाबाद के ईदगाह में CAA के खिलाफ धरना जारी, प्रशासन ने दिए कार्रवाई के निर्देश

Highlights
-सुबह सात बजे से रात दस बजे तक जनता कर्फ्यू का किया गया था आह्वान
-ईदगाह में धरने पर बैठे लोग हटने को तैयार नहीं
-पुलिस-प्रशासन के मनाने के बाद भी नहीं हटे
-प्रशासन ने वीडियो ग्राफी कराकर दिए कार्रवाई के निर्देश

By: jai prakash

Published: 22 Mar 2020, 03:48 PM IST

मुरादाबाद: कोरोना वायरस से निपटने के लिए आज पूरे देश में सुबह 7 बजे से रात 10 बजे तक जनता कर्फ्यू का आह्वान किया गया था। जिसका व्यापक रूप से असर देखने को मिल रहा है। लोगों से उनके घरों में रहने की अपील खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी। लेकिन मुरादाबाद में कुछ लोग इस अपील को नकार CAA और NRC के विरोध में ईदगाह मैदान में धरने पर बैठे हैं। पुलिस-प्रशासन ने उनसे घर जाने को भी कहा लेकिन वे नहीं माने और आम नागरिकों की जान के लिए खतरा बन अभी भी ईदगाह में डटे हुए हैं। जिस पर प्रशासन ने सभी की वीडियो ग्राफी कर कार्रवाई के आदेश दिए हैं। लेकिन इस तरह एक जगह पर हजारों लोगों के जुटने से शहर के अन्य जगह के लोगों में चिंता बढ़ गयी है।

CoronaVirus: CoronaVirus: समूह में कोरोना संदिग्धों के पहुंचने पर अस्पताल में मचा हड़कंप, जुट गया पूरा सरकारी अमला

हटने को तैयार नहीं
यहां बता दें कि 29 जनवरी से शहर के ईदगाह मैदान में CAA और NRC के खिलाफ धरना-प्रदर्शन चल रहा है। जिसमें खासकर मुस्लिम समुदाय की महिलाएं आगे आकर विरोध प्रदर्शन कर रहीं हैं। लेकिन जिस तरह से कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ रहा है और उसका इलाज भी अभी संभव नहीं हो पा रहा है। ऐसे में इस तरह एक जगह लोगों का इकट्ठा होना खतरा बढ़ा सकता है। प्रशासन ने धर्म गुरुओं से भी अपील करवाई लेकिन आन्दोलनकारी मानने को तैयार नहीं है और उनके मुताबिक मरते दम तक विरोध-प्रदर्शन जारी रहेगा।

Breaking: जनता कर्फ्यू की अवधि बढ़ाई गई अब सोमवार सुबह 6:00 बजे तक रहेगा जनता कर्फ्यू


बाकी जगह है व्यापक असर
वहीँ आज पूरे शहर में जनता कर्फ्यू का व्यापक असर देखने को मिला। शहर के ज्यादातर बाजार, दुकानें, गली-मोहल्ले, हाइवे सब बंद नजर आये। सिर्फ एम्बुलेंस और जरुरी सामान की गाडियां ही सड़कों पर दौड़ती नजर आयीं।

CAA protest CAA
Show More
jai prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned