अयोध्या राम मंदिर पर बीजेपी को झटका, धर्म संसद में संतों ने कह दी इतनी बड़ी बात, 2019 में हो सकती है मुश्किल

अयोध्या राम मंदिर पर बीजेपी को झटका, धर्म संसद में संतों ने कह दी इतनी बड़ी बात, 2019 में हो सकती है मुश्किल

Ashutosh Pathak | Publish: Jun, 19 2018 01:07:50 PM (IST) Muradabad, Uttar Pradesh, India

राम मंदिर किसी राजनीतिक पार्टी का एजेंडा नहीं, पार्टियां न दे दखल

मुरादाबाद। राम मंदिर विवाद के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। लेकिन राजनीतिक दल और उनके नेता इस पर बयानबाजी से बाज नहीं आते। लेकिन अब राम मंदिर बनने में हो रही देरी और इस पर होती बयानबाजी को लेकर हरिद्वार से आए भूमीपीठाधीश्वर स्वामी अच्युतानंद तीर्थ महाराज ने बड़ा बयान दिया है। स्वामी अच्युतानंद तीर्थ ने साफ कहा है कि राम मंदिर को राजनीतिक एजेंडा न बनाया जाए। राजनीतिक पार्टियां इस मामले से दूर रहें साधु संत आपसी सहमती से मंदिर बना लेंगे। इसके साथ ही उन्होंने केद्र सरकार से भी नाराजगी जाहिर की।

ये भी पढ़ें : BIG BREAKING: सैकड़ों यात्रियों पर रातभर मंडराता रहा मौत का साया, टूटी पटरी से गुजर गईं कई ट्रेनें

दरअसल मुरादाबाद में हिंदू युवा सेना की ओर से धर्म संसद का आयोजन किया गाय जिसमें संतों ने हदू धर्म की रक्षा पर मंथन किया। मुख्य अतिथि अच्युतानंद तीर्थ ने केंद्र सरकार के रवैये पर भी नाराजगी जताई। अयोध्या विवाद को लेकर उन्होंने कहा कि राम मंदिर को राजनीतिक दल अपना एजेंडी नहीं बनाए। यह कोई चुनावी मुद्दा नहीं है नेता इससे दूर रहे, साधु संत आपस में मिल कर यह मुद्दा सुलझा लेंगे।

ये भी पढ़ें : BREAKING :हाईवे पर मिनी बस पलटने से भयानक हादसा, एक की मौत,एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल

धर्म संसद में गौ हत्या पर भी चर्चा हुई जिसमें संतों ने आम सहमती से गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित किया जाने की राय रखी। साथ ही कहा कि गो निषेध कानून जब तक नहीं बनेगा तब तक गो हत्या नहीं रुक सकती। वहीं संतों के राजनीति में आने के सवाल पर अच्युतानंद स्वामी ने कहा कि जो संत राजनीति कर रहे हैं वह धर्म गुरु नहीं है। धर्म गुरुओं का मूल आधार राष्ट्रीय अखंडता है। इसे बचाना धर्म गुरुओं का काम है और यही हमारा धर्म है। गौरतलब हो कि हाल ही में मध्य प्रदेश के 5 संतों को राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया है। इस दौरान संतों ने अमेरिका के राष्ट्रपति द्वारा आरएसएस व विश्व हिंदू परिषद पर की गई टिप्पणी की निंदा की।

ये भी पढ़ें : पुलिस में व्याप्त भ्रष्टाचार पर DGP हुए सख्त, यहां इंसपेक्टर समेत एक दर्जन पुलिस कर्मियों पर बड़ी कार्रवाई

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned