मिल कर्मचारियों के लिए म्हाडा जल्द करेगी 5090 घरों की घोषणा

  • पूरी नहीं हो सकी थी सूची की जांच
  • इस सप्ताह प्राधिकरण की बैठक में होगा निर्णय
  • सरकार के सामने मजदूरों को घर देने की चुनौती

- रोहित के. तिवारी
मुंबई. गणेशोत्सव से पहले म्हाडा मिल मजदूरों को खुशखबरी देने की तैयारी कर रहा है। इसके चलते इस सप्ताह मिलों के श्रमिकों के लिए 5 हजार 90 हजार घरों को लेकर लॉटरी की घोषणा हो सकती है। म्हाडा के अध्यक्ष उदय सामंत ने 15 अगस्त तक 5,090 घरों की लॉटरी निकालने की घोषणा की थी। हालांकि लॉटरी की घोषणा के बाद मिल श्रमिकों की सूची की जांच पूरी नहीं हुई थी, जिसके चलते लॉटरी नहीं नुकाली जा सकी। वहीं अब जब जांच प्रक्रिया पूरी होने की राह पर है, तो इस सप्ताह प्राधिकरण की बैठक में लॉटरी की घोषणा की जाएगी। इसमें बॉम्बे डाइंग मिल के श्रमिकों के लिए 3,364 घर, श्रीनिवास मिल के श्रमिकों के लिए 482 और एमएमआरडीए के लिए 1 हजार 244 घर शामिल होंगे। वहीं लगभग दो लाख मिल मजदूरों को आवास प्रदान करने की चुनौती का सामना अभी भी सरकार कर रही है।

सितंबर में आचार संहिता लागू होने की संभावना...
इसके अलावा, म्हाडा के अध्यक्ष उदय सामंत ने 15 अगस्त से पहले राज्य भर में लगभग 14 हजार 621 घरों की लॉटरी निकालने के बारे में एक संवाददाता सम्मेलन में घोषणा की थी। हालांकि 15 अगस्त के बाद भी लॉटरी की घोषणा नहीं की गई है। इसके अलावा सितंबर के दूसरे सप्ताह में विधानसभा की आचार संहिता लागू होने की संभावना है, इसलिए लॉटरी प्रक्रिया के बाधित होने की संभावना है। म्हाडा ने 9 मई 2016 को छह मिलों पर 2 हजार 634 और 2 दिसंबर 2016 को पनवेल में एमएमआरडीए के 2,017 घरों की लॉटरी निकाली थी।

31 अगस्त तक दायित्व पत्र...
उल्लेखनीय है कि इनमें से अधिकांश विजेता अभी भी अपने घरों से वंचित हैं। वहीं मिल मजदूर नेता प्रवीण घाग ने कहा कि इन विजेताओं को नई लॉटरी सौंपने की प्रक्रिया में तेजी लाई जानी चाहिए। 2 दिसंबर 2016 को एक फरमान जारी किया गया, जिसमें मिल मजदूरों के लिए पनवेल कोन के 2 हजार 417 घरों की लॉटरी निकाली गई। म्हाडा के अध्यक्ष उदय सामंत ने कहा कि इस ड्रा के विजेता को 31 अगस्त तक एक दायित्व पत्र दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि म्हाडा मिल मजदूर विभाग में कर्मचारियों की कमी को रोकने के लिए अतिरिक्त श्रमशक्ति तुरंत प्रदान किया जाएगा।

Rohit Tiwari Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned