scriptMumbai Lumpy Precautions Prohibition on taking cattle to public places order issued by Police Commissioner | महाराष्ट्र में लंपी रोग का प्रकोप! 126 मवेशियों की मौत, मुंबई पुलिस कमिश्नर का आदेश- सार्वजानिक स्थानों पर न ले जाएं मवेशी | Patrika News

महाराष्ट्र में लंपी रोग का प्रकोप! 126 मवेशियों की मौत, मुंबई पुलिस कमिश्नर का आदेश- सार्वजानिक स्थानों पर न ले जाएं मवेशी

locationमुंबईPublished: Sep 18, 2022 12:32:49 pm

Submitted by:

Dinesh Dubey

Lumpy Skin Disease in Maharashtra: लंपी बीमारी के चलते बीएमसी क्षेत्र में जानवरों की यात्रा, जानवरों का परिवहन, जानवरों का बाजार लगाना आदि प्रतिबंधित कर दिया गया है।

Lumpy Virus In Maharashtra
लंपी बीमारी रोकने के लिए मुंबई पुलिस ने प्रतिबंध लगाए
Mumbai Police Imposes Restrictions To Prevent Lumpy Disease: महाराष्ट्र में मवेशियों में लंपी वायरस (Lumpy Virus) का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। ढेलेदार त्वचा रोग ने अब तक महाराष्ट्र के 25 जिलों में 126 मवेशियों की जान ले ली है। इस बीच लंपी रोग को मुंबई में फैलने से रोकने के लिए मुंबई पुलिस ने प्रतिबंध लगाए है।
जानवरों में गांठदार त्वचा रोग (LSD) के मामले बढ़ रहे है। जिसके मद्देनजर प्रशासन अलर्ट हो गया है। मुंबई महानगर में भी एहतियात बरती जा रही है। लंबी बीमारी के संभावित खतरे को देखते हुए मुंबई नगर निगम (BMC) द्वारा राज्य सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के अनुपालन में महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। लंपी बीमारी के चलते बीएमसी क्षेत्र में जानवरों की यात्रा, जानवरों का परिवहन, जानवरों का बाजार लगाना आदि प्रतिबंधित कर दिया गया है। वहीँ, मुंबई पुलिस कमिश्नर ने आदेश जारी कर शहर में मवेशियों को सार्वजानिक जगहों पर ले जाने पर पूरी तरह से बैन लगा दिया है।
यह भी पढ़ें

Lumpy Disease: महाराष्ट्र सरकार का बड़ा फैसला- लंपी रोग से पीड़ित मवेशियों का मुफ्त में होगा इलाज, हर जिले में बनेगा ‘ड्रग्स बैंक’

राज्य के पशुपालन विभाग ने शनिवार को बताया लंबी रोग की चपेट में आने से जलगांव जिले में 47, अहमदनगर जिले में 21, धुले में 2, अकोला में 18, पुणे में 14, लातूर में दो, सतारा में छह, बुलढाणा में पांच, अमरावती में सात मवेशियों की मौत हुई है। जबकि, सांगली, वाशिम, जालना और नागपुर जिले एक-एक मवेशी की मौत हुई है।
राज्य सरकार ने बताया कि ढेलेदार त्वचा रोग तेजी से फैल रहा है. हालाँकि यह जानवरों से या गाय के दूध के माध्यम से मनुष्यों में नहीं फैलता है। पशुपालन विभाग के अनुसार लंपी बीमारी के इलाज में आवश्यक दवाओं की खरीद के लिए प्रति जिले को एक करोड़ रुपये की राशि उपलब्ध कराई जा रही है। जबकि मवेशियों को वैक्सीन लगाने का काम भी तेजी से चल रहा है।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.