scriptपुणे में PhD स्कॉलर ने बनाई कई हजार करोड़ की ड्रग्स! लंदन, मुंबई समेत 5 शहरों में हुई सप्लाई | Pune drugs racket chemistry PHD scholar made MD supply in London, Mumbai Delhi Punjab | Patrika News

पुणे में PhD स्कॉलर ने बनाई कई हजार करोड़ की ड्रग्स! लंदन, मुंबई समेत 5 शहरों में हुई सप्लाई

locationमुंबईPublished: Feb 22, 2024 09:41:11 pm

Submitted by:

Dinesh Dubey

Pune Drugs News: पुणे के कुरकुंभ एमआईडीसी स्थित कंपनी में एमडी ड्रग्स बनाया जाता था।

pune_drugs_case.jpg
पुणे में एमडी ड्रग्स बरामद
महाराष्ट्र की पुणे पुलिस ने इंटरनेशनल ड्रग्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है। क्राइम ब्रांच ने पुणे और दिल्ली में छापेमारी कर 2 हजार किलो से ज्यादा एमडी ड्रग्स जब्त की है। इस मामले मने आठ आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है और कई हिरासत में है। ड्रग तस्करों के खिलाफ यह देश की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है।
पुणे पुलिस की छानबीन में कई चौंका देने वाले खुलासे हुए है। इस ड्रग्स रैकेट के तार पंजाब और इंग्लैंड से जुड़े होने का पता चला है। जांच में पता चला कि इस ड्रग्स रैकेट का मास्टरमाइंड मूल रूप से पंजाब का है। वह परिवार के साथ पिछले कई वर्षों से इंग्लैंड में रहता है। 2016 में एक रेड में उसे गिरफ्तार किया गया था। तब साढ़े तीन सौ किलों नशीला पदार्थ बरामद हुआ था. इस मामले में उसे जेल भी हुई थी।
यह भी पढ़ें

पुणे बन रहा ‘उड़ता पंजाब’, 4000 करोड़ की 2 हजार किलो एमडी ड्रग्स जब्त!


विदेश में बैठा है मास्टरमाइंड

पुलिस के मुताबिक, जेल में ही मास्टरमाइंड की वैभव माने और हैदर शेख से पहचान हुई। फिर इस ड्रग्स रैकेट की शुरुआत हुई। बताया जा रहा है कि रेडी-टू-ईट फूड पैकेट के जरिए एमडी ड्रग्स को लंदन भी भेजा गया। पुलिस से बचने के लिए ड्रग्स को नमक के पैकेट में छिपाया गया था। ड्रग्स की बड़ी खेप इसी तरह छिपाकर पुणे के विश्रांतवाडी इलाके में गोदाम में रखी गई थी। विश्रांतवाडी के गोदाम से 100 करोड़ से ज्यादा कीमत की 55 किलो एमडी बरामद हुई है।
पुणे क्राइम ब्रांच की टीम पिछले चार दिनों से नशे के सौदागरों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। अब तक दो हजार किलों से अधिक एमडी ड्रग्स बरामद की जा चुकी है। पुणे में तैयार किया गया ड्रग्स पुणे, मुंबई, दिल्ली समेत पांच शहरों में सप्लाई किया जाता था।

लिंक्ड-इन पर मिली डिटेल

पुणे के दौंड तालुका के कुरकुंभ एमआईडीसी में अर्थकेम केमिकल कंपनी में युवराज भुजबल ड्रग्स को तैयार करता था। जांच में पता चला है कि युवराज केमिस्ट्री में पीएचडी स्कॉलर है। उसे मुंबई से गिरफ्तार कर लिया गया है। भुजबल ने केमिस्ट्री से एमएससी की है। आरोप है कि उसने ही विदेश में बैठे कथित मास्टरमाइंड के कहने पर बड़े पैमाने पर ड्रग्स बनाया। मास्टरमाइंड ने उससे लिंक्ड-इन पर ऑनलाइन संपर्क किया था और 1800 किलों ड्रग्स बनवाने का काम सौंपा था।
पुणे क्राइम ब्रांच ने जब अर्थकेम कंपनी पर छापा मारा गया तो बारह सौ करोड़ रुपये की मेफेड्रोन मिली। कंपनी के मालिक अनिल साबले को गिरफ्तार कर लिया गया। ड्रग्स को खाने के पैकेट में छिपाकर दिल्ली की एक कूरियर फर्म के जरिये लंदन में तस्करी की जाती थी। कूरियर कंपनी के एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है।

पुलिस की कई टीमें जांच में जुटी

पुणे के पुलिस कमिश्नर अमितेश कुमार ने बताया कि अब तक पुणे और दिल्ली के कुछ स्थानों से लगभग 1,700 किलो मेफेड्रोन यानी एमडी ड्रग्स जब्त किया गया है। इस सिलसिले में आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है और उनके नेटवर्क की जांच की जा रही है।
तलाशी अभियान में पुणे पुलिस ने पुणे में 720 किलो मेफेड्रोन जब्त किया है, जिसमें से लगभग 600 किलो ड्रग्स शहर के बाहरी इलाके में पुणे-सोलापुर रोड पर कुरकुंभ एमआईडीसी क्षेत्र में स्थित अर्थकेम कंपनी से बरामद किया गया।
इसके बाद दिल्ली में हौज खास इलाके व अन्य जगहों पर छापेमारी में 970 किलो एमडी ड्रग्स बरामद हुआ। जब्त किए गए प्रतिबंधित पदार्थ की कीमत साढ़े 3 हजार करोड़ रुपये तक होने का अनुमान है। मामले की जांच के लिए पुणे पुलिस की कई टीमें देश के विभिन्न हिस्सों में भेजी गई है।

ट्रेंडिंग वीडियो