7th Pay Commission: Night Duty करने वाले केंद्रीय कर्मियों को राहत, जुलाई से मिलेगी बढ़ी हुई सैलरी

  • Modi Govt ने सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को माना
  • Night Duty में हर घंटे के लिए 10 मिनट का मिलेगा वेटेज

By: Saurabh Sharma

Updated: 20 Jul 2020, 11:28 AM IST

नई दिल्ली। सातवें वेतन आयोग ( 7th Pay Commission ) की सिफारिशों को मानते हुए मोदी सरकार ( Modi Govt ) की ओर से केंद्रीय कर्मियों ( Salary of Government employees ) को बड़ी राहत दी है। अब नाइट ड्यूटी ( Night Duty ) करने को वालों को अलग से अलाउंस ( Night Duty Allowance ) दिया जाएगा। इससे उन्हें ग्रेड पे के आधार पर अलाउंस मिलता था। नई व्यवस्था के तहत कर्मियों की सैलरी में इजाफा होगा। जानकारी के अनुसार, बढ़ी हुई सैलरी जुलाई की सैलरी से मिलनी शुरू हो जाएगी। कार्मिक विभाग की ओर से इस व्यवस्था को लेकर पहले ही निर्देश जारी कर चुके हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि केंद्र के इस फैसले से केंद्रीय कर्मचारियों को किस तरह के फायदे मिलेंगे।

यह भी पढ़ेंः- Investors के चेहरों की बढ़ी रौनक, साढ़े चार महीने बाद 11 हजार के स्तर पर पहुंचा Nifty

हर घंटे मिलेगा 10 मिनट का वेटेज
नई व्यवस्ळाा के तहत प्रत्येक घंटे के लिए 10 मिनट का वेटेज दिया जाएगा। सरकार के अनुसार रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट ड्यूटी मानी जाती है। नाइट ड्यूटी अलाउंस के लिए बेसिक पे की सीलिंग 43,600 रुपए प्रति महीने के आधार पर रखी गई है।

यह भी पढ़ेंः- CAIT Report: भारत में 100 दिनों में खुदरा कारोबार को 15 लाख करोड़ रुपए का नुकसान

इस फॉर्मूल से मिलेगा नाइट अलाउंस
जानकारी के अनुसार नई व्यवस्था के तहत अलाउंस देने का फॉर्मूला भी थोड़ा अलग रखा गया हैै। जानकारों की मानें तो नए नाइट अलाउंस का भुगतान घंटे के आधार पर तय किया जाएगस। जो कि बेसिक पे और महंगाई भत्ते के टोटल को 200 से भाग करने के बराबर होगा। बेसिक पे और महंगाई भत्ते का कैल्कुलेशन सातवें वेतन आयोग के आधार पर रखा जाएगा। यह फॉर्मूला सभी मंत्रालयों और विभागों के कर्मचारियों पर लागू किया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः- CPA 2019: Customer को चूना लगाने का मतलब, 10 लाख का Fine और दो साल कैद

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned