यहां कर्ज देने के बदले मांगी जा रही न्यूड सेल्फी, जानिए क्या है पूरा मामला

यहां कर्ज देने के बदले मांगी जा रही न्यूड सेल्फी, जानिए क्या है पूरा मामला

Manish Ranjan | Publish: Dec, 02 2018 12:10:29 PM (IST) | Updated: Dec, 02 2018 01:16:30 PM (IST) म्‍युचुअल फंड

आमतौर पर जब लोग लोन लेने के लिए जाते हैं तो अपने घर और कंपनी या फिर अपनी कोई प्रॉपर्टी को गिरवी रखते हैं।

नई दिल्ली। आमतौर पर जब लोग लोन लेने के लिए जाते हैं तो अपने घर और कंपनी या फिर अपनी कोई प्रॉपर्टी को गिरवी रखते हैं। लेकिन चीन में कुछ बैंक और कंपनियां लोगों को लोन देने के लिए एक अजीबोगरीब मांग कर रहे हैं। दरअसल चीन में कुछ बैंक और कंपनियां ग्राहकों को लोन देने के लिए उनसे उनकी न्यूड सेल्फी की मांग कर रहे हैं। फिर दिए गए वक्त पर पैसा ना चुकाने पर उनकी सेल्फी को ऑनलाइन लीक भी कर रहे हैं। बैंक और कंपनियां लोगों की न्यूड सेल्फी को गारंटी के तौर पर ले रहे हैं और बदले में उन्हें लोन की रकम दे रहा है।

न्यूड सेल्फी के बदले मिल रहा लोन

लोन देने का यह तरीका चीन में तेजी से फैलता जा रहा है। लोन देने वाली अधिकांश कंपनियां इस तरीके को अपना रही है। वाइस ऑस्‍ट्रेलिया की खबर के अनुसार,इस लोन में ज्यादातर कंपनियां पहले लोगों को लोन लेने के लिए राजी करती हैं। इसके बाद उनसे गांरटी के तौर पर न्यूड सेल्फी की मांग करती है। इतना ही नहीं इसके बाद कंपनियां उनसे ज्यादा ब्याज की मांग करती है। अगर कोई ग्राहक लोन की भरपाई नहीं कर पाता है तो उसकी न्यूड सेल्फी को ऑनलाइन लीक करने की धमकी दी जाती है।

तेजी से बढ़ रहा न्यूड सेल्फी लोन का बिजनेस

तय समयसीमा के भीतर लोन नहीं चुकाने वाले लोगों की न्यूड सेल्फी पहले उनके परिवार और दोस्तों के बीच लीक की जाती है। फिर लोन लेने वाले ग्राहकों को इन सेल्फी को ऑनलाइन वेबसाइटों पर अपलोड करने की धमकी दी जाती है। चाइना यूथ डेली रिपोर्ट के अनुसार 2016 में 161 लड़के और लड़कियों की तस्वीरों और वीडियो का 10 जीबी डेटा लीक किया गया है। इनमें ज्यादातर लोगों की उम्र 19 से 23 साल के बीच में है। इन लोगों ने कंपनियों से लगभग 1000 से लेकर 2000 डॉलर यानी 70,000 से लेकर 1,40,000 रुपए तक का लोन लिया था। साथ ही इन लोगों ने अपनी फोटो आईडी और न्यूड सेल्फी को गारंटी के तौर पर रखा था। चीन की एक रिपोर्ट के मुताबिक लोन नहीं चुकाने पर कई मामलों में कर्जदार को सेक्स वर्कर का काम करने के लिए मजबूर किया गया। चीन की सरकार ने इस पर रोक लगाने के लिए कई कंपनियों को बैन किया, लेकिन अब ये कंपनियां चोरी-छुपे ऑनलाइन तरीके से अपना कारोबार फैला रही है।

 

Ad Block is Banned