मुजफ्फरनगर में धर्म गुरु की पिटाई से लोगों में आक्रोश, पुलिस के खिलाफ पंचायत

लॉकडाउन में बाइक में पेट्रोल भरवाकर लाैट रहे मदरसे के प्रिंसिपल पर मुजफ्फरनगर पुलिस ने कथित रूप से लाठियां भांज दी। इस घटना से लाेगाें में गुस्सा हैं। फिलहाल पुलिस ने आराेपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन देकर गु्स्साए लाेगाें काे शां किया है।

मुज़फ्फरनगर ( muzaffarnagar news ) मुजफ्फरनगर में एक दराेगा ने कथित रूप से धर्मगुरु की पिटाई कर दी। इस घटना पर लाेगाें के सब्र का बांध टूट गया। गुस्साए लाेगाें ने मदरसे में पंचायत करके पुलिस ( muzaffarnagar police ) के प्रति अपना गुस्सा जाहिर किया है। पंचायत में साफ कह दिया कि अगर आराेपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही नहीं हुई ताे वह सड़काें पर उतरेंगे।

यह भी पढ़ें: बरसात ने यूपी के इस जिले में कर दिए मुम्बई से हालात, तालाब बनी सड़कें

मामला थाना ककरौली के गाँव ककरौली है। यहां पर मदरसा इस्लामिया अरबिया सिराजुल उलूम के प्रधानाचार्य मुफ़्ती नावेद आलम ने थाना ककरौली में तैनात एक दरोगा पर बिना वजह पिटाई करने का आरोप लगाया हैं। मुफ्ती नवेद आलम का कहना है कि वह शनिवार की सुबह अपनी मोटरसाइकिल में पेट्रोल डलवाने के लिए बहेड़ा सादात गये थे। जाते वक्त तो उन्हें किसी ने रोका नहीं मगर जब वह पेट्रोल डलवाकर वापस लौट रहे थे तो बहेड़ा सादात के चैराहे पर चेकिंग कर रहे तीन पुलिस कर्मियों ने उन्हें रोक लिया। आरोप है कि, उनके साथ गाली-गलौज करनी शुरू करते हुए लाठी डंडों से मारपीट शुरू कर दी। इस दाैरान उन्हें काफी चोट आई और पुलिस का डंडा लगने से मोबाइल फाेन भी टूट गया।

यह भी पढ़ें: गंग नहर में कूदकर आत्महत्या करने जा रहे युवक की पुलिस ने दाैड़कर बचाई जान

इससे पहले कि वह अपनी बा रख पाते गाली-गलौज करते हुए उन्हें वहां से भगा दिया। पीड़ित मुस्लिम धर्म गुरु ने पूरे मामले की जानकारी मदरसे में पहुंचकर गाँव के जिम्मेदार लोगों को दी। इस पर मुस्लिम समाज के लोगों में रोष व्याप्त हो गया। काफी संख्या में लोग मदरसे में इकट्ठा हो गए और पुलिस की इस करतूत की निंदा की। इसके बाद सभी थाने पहुंचे और हंगामा खड़ा कर दिया। पुलिस ने तहरीर लेकर दरोगा के खिलाफ कार्यवाही का आश्वासन दिया इसके बाद मामला शांत हाे सका।

यह भी पढ़ें: एक और किडनैप: 5 साल के मासूम का अपहरण, मांगी 30 लाख की फिरौती, अगले दिन बस मेें मिला

मुस्लिम धर्मगुरु की पिटाई के बाद क्षेत्र के लोगों में रोष है। लोगों का कहना है कि अगर आरोपी दरोगा के खिलाफ कार्यवाही नहीं हुई तो मजबूरन उन्हें आंदोलन करना पड़ेगा

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned