हारेगा कोरोना: तेजी से ठीक हो रहे मरीज, हाल चाल जानने के लिए बनाया गया कंट्रोल रूम

मंगलवार को 2268 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई। 621 कोरोना के नए मरीज मिले। वहीं 533 मरीज ठीक होकर अपने घर चले गए।

By: Rahul Chauhan

Published: 12 May 2021, 01:45 PM IST

मुजफ्फरनगर। देशभर में कोविड-19 वैश्विक महामारी की दूसरी लहर ने तबाही मचा रखी है। वहीं शासन से लेकर प्रशासन तक इस महामारी से निपटने के लिए तरह-तरह के हथकंडे भी अपना जा रहे हैं। देश में वैक्सीनेशन का कार्य जोरों पर है। वहीं लोगों को कोरोना से बचने के उपाय भी बताए जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश में कोरोना को रोकने के लिए कर्फ्यू भी जारी है। जिसके परिणाम अब आने शुरू हो गए हैं। जनपद मुजफ्फरनगर में कोरोना के पॉजिटिव मरीजों के ठीक होने की संख्या में भी इजाफा हुआ है।

यह भी पढ़ें: सिर्फ 1 रुपये में मिलेगा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, जमा करने होंगे ये दस्तावेज

मंगलवार को आई रिपोर्ट के अनुसार कुल 2718 रिजल्ट प्राप्त हुए। जिसमें 2268 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई और 621 कोरोना के नए मरीज बढ़े। जिसमें 533 मरीज ठीक होकर अपने घर चले गए। वहीं जनपद मुजफ्फरनगर में कोरोना से निपटने और मरीजों का हालचाल जानने के लिए जिला प्रशासन ने बड़ा और महत्वपूर्ण कदम उठाया है। जिसमें कलेक्ट्रेट में बने कोविड़ 19 कंट्रोल रूम में जिला प्रशासन द्वारा कोरोना के होम आइसोलेट मरीज और मुजफ्फरनगर मेडिकल कॉलेज बेगराजपुर में आइसोलेट मरीजों के साथ साथ ठीक होकर अपने घर गए मरीजों का हालचाल जानने के लिए एक आईसीसी कमांड कंट्रोल रूम बनाया गया है।

यह भी पढ़ें: अब UP के इस जिले में हर माह तैयार होंगी कोवैक्सीन की दो करोड़ डोज, तैयारी तेज

अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित कुमार ने बताया कि इसमें 18 लैंडलाइन फोन और 15 हैंडसेट के अलावा 40 कनिष्क सहायक भी लगाए गए है। कुल 73 लोगों का स्टाफ लगाया गया है जो होम आइसोलेट मरीजों का हालचाल जानते हैं। इसके अलावा मुजफ्फरनगर मेडिकल कॉलेज बेगराजपुर में भर्ती मरीजों का भी हाल चाल जानते हैं। साथ ही जहां शव ले जाने के लिए वाहनों की व्यवस्था करवाना दवाई आदि की निगरानी की समीक्षा भी की जाती है। यह टीम रोजाना 125 से 150 लोगों का हाल-चाल जानते हैं।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned