आपत्तिजनक स्थिति में था प्रेमी युगल, तभी पहुंच गए ‘ये’ और फिर जो हुआ, देखें वीडियो

आपत्तिजनक स्थिति में था प्रेमी युगल, तभी पहुंच गए ‘ये’ और फिर जो हुआ, देखें वीडियो

Rahul Chauhan | Publish: Sep, 07 2018 07:09:54 PM (IST) Muzaffarnagar, Uttar Pradesh, India

जिला महिला अस्पताल से अस्पताल कर्मियों द्वारा एक युवती और युवक को आपत्तिजनक स्थति में पकड़ा गया है।

मुजफ्फरनगर। यूं तो जिला अस्पताल लोगों के इलाज के लिए है। जहां हजारों की संख्या में लोग इलाज कराने आते हैं। वहीं अक्सर यह भी शिकायत मिलती रहती है कि जिला अस्पताल में सुविधाओं के अभाव में सही इलाज नहीं मिल पा रहा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मुजफ्फरनगर का जिला अस्पताल अय्याशी का अड्डा बनता नजर आ रहा है। यही कारण है कि यहां आए दिन अलग-अलग मामले सामने आते रहते हैं। ऐसा ही एक मामला शुक्रवार का है। जब जिला महिला अस्पताल से अस्पताल कर्मियों द्वारा एक युवती और युवक को आपत्तिजनक स्थति में पकड़ा गया है।

यह भी पढ़ें : अरविंद केजरीवाल की रैली में शामिल होंगे भाजपा के ये दिग्गज नेता, इस शहर में भरेंगे हुंकार

जिसकी सूचना मिलते ही इन्हें देखने के लिए अस्पताल में लोगों का जमावड़ा लग गया। वहीं अस्पताल कर्मियों द्वारा पकड़े गए प्रेमी युगल को सीएमएस के सामने पेश किया गया। पूछताछ में प्रेमी युगल ने खुद को मुज़फ्फरनगर का निवासी बताया। इसकी सूचना एन्टी रोमियो स्कवॉयड को दी गई। जिस पर एंटी रोमियो स्कवॉयड की इंचार्ज ममता गौतम ने पुलिस बल के साथ अस्पताल में पहुँचकर प्रेमी युगल को हिरासत में लेते हुए युवक को शहर कोतवली पुलिस के सुपुर्द कर युवती को महिला थाने भेज दिया।

यह भी पढ़ें : RAPE पर रोक लगाने के लिए इस शख्स ने शुरू की एेसी अनोखी मुहिम, इस शहर से की शुरुआत

वही प्रेमी युगल के परिजनों को भी इसकी सूचना दी गई है और आगे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। एसपी सिटी ओमवीर सिंह ने बताया कि अस्पताल से प्रेमी युगल की सूचना मिली थी। जिस पर पुलिस टीम ने अस्पताल पहुंचकर दोनों को हिरासत में ले लिया है। इस प्रेमी युगल के परिजनों को मामले की सूचना देकर आगे की कार्रवाई की जा रही है। वहीं पकड़ा गया प्रेमी युवती को अपनी पत्नी बता रहा है और उससे मिलने आने की बात कहता नजर आ रहा है।

यह भी पढ़ें : मिशन 2019 के लिए बड़े आैर छोटे चौधरी की 'सुपर' तैयारी, कैराना में हार के बाद अब फिर भाजपा में मची खलबली

गौरतलब है कि मुज़फ्फरनगर का जिला अस्पताल पिछले काफी समय से चर्चाओं का विषय बना हुआ है। लोगों का आरोप है कि आए दिन इस तरह की घटना यहां होना आम बात है। उनका कहना है कि अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के कारण ही इस तरह के मामले यहां होते हैं। जबकि लोग यहां परिवारों के साथ इलाज कराने आते हैं और इस तरह की घटनाओं से उन्हें भी शर्मिंदगी महसूस होती है।

Ad Block is Banned