प्‍यार में बाधा बनने पर शामली में छात्रा ने प्रेमी से करा दी पिता की हत्‍या, घर में रखा तमंचा भी दिया

प्‍यार में बाधा बनने पर शामली में छात्रा ने प्रेमी से करा दी पिता की हत्‍या, घर में रखा तमंचा भी दिया

sharad asthana | Publish: Apr, 17 2018 10:54:29 AM (IST) | Updated: Apr, 17 2018 11:02:14 AM (IST) Muzaffarnagar, Uttar Pradesh, India

बीएससी की छात्रा ने प्रेमी के पिता की हत्‍या के बदले शादी की रखी शर्त, जीबी पंत हॉस्पिटल में लैब टेक्नीशियन थे पिता

शामली। उत्‍तर प्रदेश के शामली में प्यार में अंधी एक बेटी ने अपने प्रेम को पाने की खातिर अपने पिता की हत्‍या करवा दी। युवती ने अपने प्रेमी के सामने शादी करने की बदले में अपने पिता की हत्या करने की शर्त रखी थी। इतना ही नहीं बीएससी की छात्रा ने अपने पिता का तमंचा भी दे दिया। युवती की शर्त मान प्रेमी ने भी अपने चचेरे भाई के साथ मिलकर उसके पिता की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने इस मामले में युवती, उसके प्रेमी व युवक के चचेरे भाई को गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार को जब पुलिस ने हत्‍या का खुलासा किया तो हर कोई दंग रह गया। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें: दुखद: पिता से नहीं देखा गया दहेज पीड़िता बेटी का दर्द तो लगा लिया मौत को गले

जीबी पंत हॉस्पिटल में लैब टेक्नीशियन थे युवती के पिता

यह सनसनीखेज वारदात शामली की सदर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला दयानंद नगर की है। यहां के रहने वाले राकेश कुमार दिल्ली के जीबी पंत हॉस्पिटल में लैब टेक्नीशियन थे। 7 अप्रैल 2018 को राकेश की उसी के घर के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने सीसीटीवी की फुटेज व सर्विलांस के आधार पर सबसे पहले शामली के मोहल्ला हाजीपुर निवासी समीर को हिरासत में लिया। समीर ने बताया कि उसका राकेश की बेटी वैष्णवी उर्फ काव्या के साथ एक साल से प्रेम प्रसंग चल रहा है। राकेश इसका विरोध कर रहा था। वह वैष्णवी को समीर से मिलने से मना करता था। यह बात वैष्णवी को पसंद नहीं आई और वह छिपकर प्रेमी से मिलती रही।

यह भी पढ़ें: अवैध मोबाइल भ्रूण जांच केंद्र का भंडाफोड़, महिला सहित तीन गिरफ्तार

बेटी पर लगा दी थी पाबंदी

आरोप है कि राकेश ने अपनी पत्नी के साथ भी इसी मामले को लेकर मारपीट शुरू कर दी। राकेश चाहता था कि उसकी पत्नी वैष्णवी पर नजर रखे और घर से बाहर न जाने दे। इसको लेकर परिवार में तनाव रहता था। पुलिस के मुताबिक, समीर ने बताया कि एक दिन वैष्णवी ने उसे फोन कर अपने घर बुलाया और शर्त रखी कि वह उसके पिता की हत्या कर दे तो वह उससे शादी कर लेगी। यही नहीं वैष्णवी से उसे अपने घर में रखा एक तमंचा भी दिया। इसके बाद समीर ने अपने चचेरे भाई शादाब के साथ मिलकर राकेश की उस वक्त हत्या कर दी, जब वह दिल्ली से ड्यूटी कर घर लौट रहा था। समीर के चचेरे भाई शादाब ने राकेश के सिर में गोली मार दी थी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

यह भी पढ़ें: बेटा ने होने पर पति ने उठाया खौफनाक कदम,पत्नी पहुंची पुलिस के पास

बेटी ने बताई यह वजह

वहीं, पुलिस गिरफ्त में आई राकेश की बेटी वैष्णवी ने बताया कि उसका पिता मामूली बात को लेकर उसकी मम्मी के साथ मारपीट करता था। इसको लेकर वह परेशान थी। उसके पिता ने दोनों के मिलने पर भी पाबंदी लगा दी थी। इसको लेकर उसने समीर से अपने पिता की हत्या करवा दी। वैष्णवी ने बताया कि दोनों पहले तो फेसबुक के जरिए बात किया करते थे। बाद में दोनों ने एक साथ ट्यूशन किया और दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में बदल गई।

यह भी पढ़ें: मासूम को शादी समारोह से उठा ले गया दरिंदा, हवस मिटाने के बाद हत्या

सीसीटीवी कैमरों से खुला राज

हत्याकांड की जांच कर रहे सीओ सिटी अशोक कुमार ने बताया कि वैष्‍णवी बीएससी की छात्रा है। पुलिस ने जब आसपास क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली तो दो कैमरों में ये दोनों भाई आ गए। पुलिस ने जब इनकी शिनाख्त कराई तो ये शामली निवासी समीर व शादाब निकले। सीओ ने बताया कि वैष्णवी ने समीर के सामने शर्त रखी कि वह उसके पिता की हत्या कर देगा तो वह शादी कर लेगी। वैष्णवी ने अपने घर पर रखा एक तमंचा व कारतूस भी समीर को दिया था। पुलिस मामले में यह जानकारी भी जुटा रही है कि इस हत्याकांड में किसी और का तो हाथ नहीं है। फिलहाल पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Ad Block is Banned