scriptप्यासे कंठ से परेशान लोगों ने कलक्ट्रेट घेरा | Patrika News
नागौर

प्यासे कंठ से परेशान लोगों ने कलक्ट्रेट घेरा

9 Photos
3 days ago
1/9
प्यासे कंठ से परेशान लोगों ने कलक्ट्रेट घेरा
वार्ड संख्या एक में शामिल दर्जनभर कॉलोनी के बाङ्क्षशदों ने किया प्रदर्शन : मौके पर पहुंचे जलदाय अधिकारियों से हुई झड़प
2/9
नागौर. भीषण गर्मी में पिछले कई दिनों से पेयजल संकट का सामना कर रहे वार्ड नंबर एक की दर्जनभर कॉलोनियों के बाङ्क्षशदों का सोमवार को गुस्सा फूट पड़ा। लोगों ने पार्षद गोङ्क्षवद कड़वा के साथ कलक्ट्रेट पहुंचकर घेराव किया।
3/9
4/9
अधिकारियों के कलक्ट्रेट पहुंचते ही प्रदर्शन कर रहे लोगों की गर्मागरम बहस हो गई। लोगों ने कलक्टर के समक्ष आरोप लगाया कि यह अधिकारी किसी की नहीं सुनते है। काफी दिनों से लोग बूंद-बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं।
5/9
इस पर कलक्टर ने एसडीएम सुनील कुमार को पीएचडीई के अधिकारियों के साथ मिलकर टीम गठित कर जांच रिपोर्ट देने के निर्देश दिए।
6/9
चार घंटे तक चला धरना प्रदर्शन
करीबन चार घंटे तक जल संकट से परेशान राजपूत कॉलोनी, शिवाजी कॉलोनी, जम्भेश्वर कॉलोनी, प्रेम नगर, श्रीराम कॉलोनी, न्यू श्रीराम कॉलोनी, खटीक मोहल्ला,, महादेव नगर , शास्त्री नगर, हीरा नगर, श्याम बिहार कॉलोनी, रिको बालवा रोड़, सुंदरम सिटी , दरियाव कॉलोनी, मंगलम नगर के सैंकड़ों लोगों ने प्रदर्शन किया।
7/9
कलक्ट्रेट पहुंचकर जलदाय अधिकारियों के खिलाफ आक्रोश जताया। कलक्टर के आदेश पर अधिशासी अभियंता पी. एस. तंवर एवं सहायक अभियंता जयनारायण मेहरा कलक्ट्रेट पहुंचे। कलक्टर उनसे चर्चा कर समस्या का जल्द समाधान करने के निर्देश दिए।
8/9
इसके बाद भी क्षेत्रवासी संतुष्ट नहीं हुए। दोनों अधिकारियों को लोगों ने खरी-खोटी सुनाई। इस दौरान महिलाएं काफी आक्रोशित नजर स्थिति की गंभीरता को भांपते हुए मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने दोनों अधिकारियों को वहां से बाहर निकाला। यह घटनाक्रम करीब तीन बजे तक चला।
9/9
एसडीएम की रिपोर्ट पर होगा फैसला
उपखण्ड अधिकारी व पीएचडीई के अधिकारियों की टीम क्षेत्र की जांच कर रिपोर्ट देगी। उसके आधार पर निर्णय किया जाएगा। क्षेत्रीय पार्षद भी टीम के साथ रहेंगे।
भार्गव मोहल्ले से भी पहुंचे लोग
पानी की समस्या को लेकर भार्गव मोहल्ले से भी काफी संख्या में महिलाएं एवं पुरुष कलक्ट्रेट पहुंचे और कलक्टर को ज्ञापन दिया। ज्ञापन में बताया कि उनके क्षेत्र में कुछ जगहों पर पाइपलाइन ऊंची है और काफी संख्या में अवैध जल कनेक्शन भी है। इस कारण क्षेत्र में गत डेढ़ माह से पानी नहीं आ रहा है। जलदाय के अधिकारियों बताने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इस दौरान कंवरीलाल, रमेश, जगदीश, रोहित, विशाल, महिपाल आदि मौजूद थे।
Copyright © 2024 Patrika Group. All Rights Reserved.