scriptDelhi air quality cross red zone, people Difficult to breathe | दिल्ली में सांस लेना हुआ मुश्किल, एयर क्वालिटी रेड जोन के पार | Patrika News

दिल्ली में सांस लेना हुआ मुश्किल, एयर क्वालिटी रेड जोन के पार

दिवाली से पहले ही कई इलाकों में एयर क्वालिटी रेड जोन के पार हो गई है। इसके चलते लोगों का सांस लेना भी मुश्किल हो गया है। कल मौसम विभाग ने अगले दो-तीन दिनों तक दिल्ली की हवा की गुणवत्ता और खराब रहने का अनुमान जताया था।

नई दिल्ली

Published: November 02, 2021 08:22:51 pm

नई दिल्ली। सर्दियां आते ही राजधानी दिल्ली में वायु की गुणवत्ता भी खराब होने लगती है। वहीं इस बार तो दिवाली से पहले ही कई इलाकों में एयर क्वालिटी रेड जोन के पार हो गई है। इसके चलते लोगों का सांस लेना भी मुश्किल हो गया है। अनुमान है कि दिवाली के बाद दिल्ली की हवा और खराब हो सकती है।
Delhi air quality cross red zone, people Difficult to breathe
Delhi air quality cross red zone, people Difficult to breathe
अगर आंकड़ों की बात करें तो मंगलवार सुबह दिल्‍ली के कुछ इलाकों में वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहद खराब श्रेणी में दर्ज की गई। सोनिया विहार में एक्‍यूआई 300 दर्ज किया गया, तो श्रीनिवासपुरी में 265 रहा। इसके साथ ही दिल्‍ली के 27 निगरानी केंद्रों पर भी वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में दर्ज की गई।
इन इलाकों में हवा बेहद खराब
बता दें कि दिल्ली से सटे इलाकों में हवा बेहद खराब पाई गई। उत्‍तर प्रदेश के गाजियाबाद के इंदिरापुरम में एक्‍यूआई 352, तो संजय नगर में 242 दर्ज किया गया है। वहीं नोएडा के सेक्‍टर 116 में 250 और ग्रेटर नोएडा में भी एक्‍यूआई 240 दर्ज किया गया है। दिल्ली और आसपास के इलाकों में एयर क्वालिटी सरकार और विशेषज्ञों की परेशान बढ़ा रहा है। विशेषज्ञों का कहना है अगर अभी ये हाल है तो सर्दी बढ़ने पर दिल्ली की स्थिति क्या होगी।
गौरतलब है कि 1 नवंबर को मौसम विभाग ने अगले दो-तीन दिनों तक दिल्ली की हवा की गुणवत्ता और खराब रहने का अनुमान जताया था। विभाग का कहना है कि 4 नवंबर तक दिल्ली का AQI यानी वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘खराब’ श्रेणी में रह सकता है। वहीं दिवाली के बाद दिल्ली की हवा में सुधार होगा।
यह भी पढ़ें

कैप्टन ने कर दिया अपनी पार्टी के नाम का ऐलान, कांग्रेस और पंजाब दोनों का जिक्र

क्या है प्रदूषण का पैमाना
हवा की गुणवत्ता शून्य और 50 के बीच में है तो इसे ‘अच्छा’ माना जाता है, वहीं 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’, तो 401 और 500 के बीच ‘गंभीर’ माना जाता है।
पड़ोसी राज्यों पर लगाया आरोप
दिल्ली सरकार का कहना है कि हरियाणा, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में किसानों द्वारा खेतों में पराली जलाने से राजधानी की हवा खराब होती है। इससे निपटने के लिए केंद्र सरकार ने राज्यों को मदद भी मुहैया कराई थी, बावजूद इसके पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने की घटनाएं कम नहीं हो रही हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.