दिल्ली सरकार ने लॉन्च किया 'देश का मेंटर' कार्यक्रम, सीएम केजरीवाल ने लोगों से की राष्ट्र निर्माण में सहयोग की अपील

दिल्ली सरकार ने प्रदेश के सरकारी स्कूलों के लिए 'देश के मेंटर' नाम का प्रोग्राम लॉन्च किया, कार्यक्रम खास कर किशोरावस्था में प्रवेश कर रहे बच्चों के लिए है। इसके तहत किशोरों को देशभर से मेंटर उपलब्ध कराए जाएंगे, जिनसे वे अपने मन की बात साझा कर सकें। अच्छे मेंटर मिलने से बच्चे डिप्रेशन से बाहर आकर नाकारात्मकता और आत्महत्या जैसे विचारों से निजात पा सकेंगे

By: धीरज शर्मा

Published: 11 Oct 2021, 04:35 PM IST

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ( Delhi Government ) ने सोमवार को प्रदेश के सरकार स्कूलों के लिए 'देश के मेंटर' ( Desh Ke Mentor ) नाम का प्रोग्राम लॉन्च किया। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के शिक्षा के क्षेत्र में गजब की सकारात्मकता है।

कुछ दिन पहले हमने 'देशभक्ति पाठ्यक्रम' और 'हैप्पीनेस करीकुलम' की शुरुआत की थी। सब लोग इसको लेकर काफी उत्साहित थे, लेकिन आपको बता दें कि इसकी महक विदेशों तक पहुंच गई है।

यह भी पढ़ेंः Delhi: AIIMS का दावा, वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने से दूर होंगे पोस्ट कोविड के लक्षण

सीएम अरविंद केजरीवाल ( CM Arvind Kejriwal) ने कहा कि सभी युवाओं से मेरी अपील है, वह एक मेंटर के तौर पर बच्चों के साथ जरूर जुड़ें और उज्जवल भविष्य की तरफ ले जाने में उनकी मदद करें।

केजरीवाल ने कहा, दिल्‍ली में 2 लाख 80 हजार प्राइवेट स्कूल के बच्चों ने सरकारी स्कूल को चुना है। लिहाजा स्कूल में ही हमारे बच्चों को बेहतर मार्गदर्शन मिले तो वो दुनिया जीत सकते हैं।

केजरीवाल के मुताबिक, हम बच्चों को नौकरी ढूंढने वाला नहीं बल्कि नौकरी देने वाला बना रहे हैं।
स्कूल में शिक्षा का काम होता है तीन चीजों के लिए बच्चों को तैयार करना।

पहला अपना पेट पालने लायक बनना, दूसरा यह कि बच्चों को अच्छा इंसान बनाना और तीसरा होता है अच्छा नागरिक बनाना। शुरू किए जा रहे इस कार्यक्रम का भी हमने पायलट प्रोजेक्ट किया था जिसका बहुत अच्छा रिस्पांस मिला।

यह भी पढ़ेँः Delhi: हर्ष विहार इलाके में पेपर गोदाम में लगी भीषण आग, मौके पर दमकल की 16 गाड़ियां, तीन दिन में तीसरी बड़ी घटना

ये है 'देश के मेंटर' कार्यक्रम

'देश के मेंटर' कार्यक्रम खास कर किशोरावस्था में प्रवेश कर रहे बच्चों के लिए है। इसके तहत किशोरों को देशभर से मेंटर उपलब्ध कराए जाएंगे, जिनसे वे अपने मन की बात साझा कर सकें।

अच्छे मेंटर मिलने से बच्चे डिप्रेशन से बाहर आकर नाकारात्मकता और आत्महत्या जैसे विचारों से निजात पा सकेंगे। इसमें देश का कोई भी युवा या वयस्क मेंटर बनकर बच्चों को सही रास्ता दिखा सकता है।
बता दें कि दिल्ली सरकार की इस योजना के साथ सोनू सूद भी बतौर ब्रांड एम्बेसेडर बनकर जुड़े हुए हैं।

Arvind Kejriwal
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned