दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, Corona Vaccine की पहली डोज नहीं लगवाने वाले कर्मचारियों की ऑफिस एंट्री पर लगाई रोक

कोरोना से जंग के बीच दिल्ली सरकार ने बड़ा कदम उठाया है, ऐसे सरकारी कर्मचारियों जिन्होंने अब तक कोरोना की पहली डोज नहीं लगवाई है उनके ऑफिस एंट्री पर रोक लगा दी है, हालांकि ये रोक 16 अक्टूबर से प्रभावी होगी

By: धीरज शर्मा

Published: 08 Oct 2021, 03:45 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना संकट ( Coronavirus ) के बीच कोरोना वैक्सीनेशन ( Corona Vaccination ) को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली सरकार ( Delhi Governemtn ) ने बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने कोरोना वैक्सीन लगवाने से बच रहे अपने कर्मचारियों पर अब सख्ती करनी शुरू कर दी है।

ऐसे सरकारी कर्मचारी जिन्होंने अभी तक कम से कम कोरोना वैक्सीन की पहली डोज भी नहीं ली है, उनकी अब ऑफिस में एंट्री पर रोक लगा दी गई है। ये रोक 16 अक्टूबर से प्रभावी हो जाएगी। पहली डोज लेने के बाद ही कर्मचारियों को ऑफिस में आने की अनुमति दी जाएगी।

यह भी पढ़ेँः Air Pollution in Delhi: प्रदूषण से निपटने के लिए आप सरकार की तैयारी, आज से शुरू होगा एंटी डस्ट अभियान

दिया एक हफ्ते का वक्त
दिल्ली में ऐसे सरकारी कर्मचारी जिन्होंने अब कोरोना वैक्सीन की पहली डोज नहीं लगवाई है उन्हें ऑफिस में एंट्री नहीं दी जाएगी, हालांकि ऑफिस में प्रवेश रोकने से पहले सरकार ने कर्मचारियों को एक हफ्ते तक का वक्त दिया है। ये बैन 16 अक्टूबर से लागू होगा।

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने शुक्रवार को एक आदेश में कहा कि दिल्ली सरकार के उन कर्मचारियों को 16 अक्टूबर से ऑफिस आने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

मुख्य सचिव विजय देव के हस्ताक्षर वाले इस सर्कुलर में कहा गया है कि वैक्सीन की डोज न लेने वाले शिक्षकों और फ्रंटलाइन वर्कर्स समेत दिल्ली सरकार के सभी ऐसे कर्मचारियों को तब तक 'छुट्टी पर' माना जाएगा जब तक कि वह टीके की डोज नहीं ले लेते।

आदेश में कहा गया है कि जिन कर्मचारियों ने 15 अक्टूबर तक वैक्सीन की कम से कम पहली डोज भी नहीं ली है, उन्हें 16 अक्टूबर से तब तक उनके ऑफिस/स्वास्थ्य केंद्रों/शैक्षणिक संस्थान आने नहीं दिया जाएगा, जब तक कि वे वैक्सीन की पहली खुराक नहीं ले लेते।

यह भी पढ़ेँः Delhi Air Pollution: सीएम केजरीवाल ने कहा- कुछ दिन में बढ़ेगा प्रदूषण! जारी किया 10 पॉइंट विंटर एक्शन प्लान

इस तरह किया जाएगा सत्यापन
आदेश के मुताबिक, संबंधित विभागों के प्रमुख आरोग्य सेतु ऐप या वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट के जरिए वैक्सीन की डोज लेने वाले कर्मचारियों का सत्यापन करेंगे।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned