किसान आंदोलन पर सुप्रीम कोर्ट ने पूछा सवाल, जब मामला कोर्ट में है फिर प्रदर्शन क्यों?

कृषि कानूनों को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब मामला विचाराधीन है फिर प्रदर्शन क्यों हो रहे हैं। क्या आपको न्यायपालिका पर भरोसा नहीं है या फिर ये प्रदर्शन सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ हैं।

By: Nitin Singh

Published: 04 Oct 2021, 11:20 PM IST

नई दिल्ली। तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसान बीते कई महीनों से राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। अब जब मामला सुप्रीम कोर्ट में है फिर भी किसानों का प्रदर्शन थमा नहीं है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई के दौरान सवाल पूछा कि जब मामला कोर्ट में है फिर इसको लेकर प्रदर्शन क्यों हो रहा है।

क्या आप सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ कर रहे प्रदर्शन

सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि मामला कोर्ट है, इसके बावजूद किसान महापंचायतों का आयोजन किया जा रहा है। जब कानूनों पर रोक लगी हुई है और कानून लागू नहीं हैं तो इन्हें किस बात का डर है। सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि क्या आपको न्यायपालिका पर भरोसा नहीं है या फिर यह प्रदर्शन सुप्रीम कोर्ट के ही खिलाफ है।

नहीं मिली जंतर-मंतर पर सत्याग्रह की इजाजत

सुप्रीम कोर्ट ने जंतर-मंतर पर सत्याग्रह की इजाजत मांग रही किसान महापंचायत से कहा कि कोर्ट पहले इस कानूनी सवाल पर विचार करेगा कि क्या मौजूदा स्थिति में आपको विरोध प्रदर्शन का अधिकार पूर्ण अधिकार है। वो भी उस वक्त जब किसी मामले में संवैधानिक अदालत में याचिका दाखिल कर कानूनी राहत मांगी गई हो तो क्या उसी विषय पर विरोध प्रदर्शन जारी रखने की अनुमति दी जा सकती है।

यह भी पढ़ें: लखीमपुर घटना के बाद भाजपा का क्रूर चेहरा आया सामने

जस्टिस एएम खानविलकर और सीटी रविकुमार की पीठ ने विचार के लिए कानूनी प्रश्न तय करते हुए मामले को 21 अक्टूबर को फिर सुनवाई पर लगाने का निर्देश दिया है। बता दें कि कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था। इसके बाद भी किसान संगठन लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं, जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने सवाल उठाए हैं।v

Show More
Nitin Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned