script उत्तराकाशी टनल : सुरंग में फंसे इन मजदूरों के परिजनों पर अब टूट पड़ा दुख का एक और पहाड़ | Horrible road accident in uttarakhand two brother died from jharkhand | Patrika News

उत्तराकाशी टनल : सुरंग में फंसे इन मजदूरों के परिजनों पर अब टूट पड़ा दुख का एक और पहाड़

Published: Nov 24, 2023 07:49:59 pm

Submitted by:

Prashant Tiwari

Uttarakhand: सुरंग में फंसे झारखंड के अनिल बेदिया, राजेंद्र बेदिया और सुखराम बेदिया के परिवार के दो लोगों की मंगलवार को सड़क हादसे में जान चली गई है।

 Horrible road accident in uttarakhand two brother died from jharkhand

दिवाली के दिन से ही उत्तराखंड के सुरंग में फंसे 41 मजदूरों को बचाने का मिशन अपने आखिरी चरण में पहुंच गया है। जिम्मेदार हर वक्त यहीं कह रहे हैं कि रेस्कयू ऑपरेशन जल्द ही पूरा हो जाएगा और सभी मजदूर सकुशल निकल जाएंगे। लेकिन इसी बीच एक ऐसी खबर सामने आई है, जिसने सुरंग में फंसे झारखंड के तीन मजदूरों और उनके परिवार को जिंदगी भर का गम दे दिया है। दरअसल, सुरंग में फंसे झारखंड के अनिल बेदिया, राजेंद्र बेदिया और सुखराम बेदिया के परिवार के दो लोगों की मंगलवार को सड़क हादसे में जान चली गई है।

सड़क हादसे गई मजदूरों के घरवालों की जान

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक मंगलवार को सड़क हादसे में राजेंद्र और सुखराम के चचेरे भाई दिनेश और शंकर की मौत हो गई। बता दें, इन दोनों की मौत उस वक्त हुई जब चुटुपालु घाटी में एक ट्रक ने उनके चिप से भरे ट्रैक्टर को टक्कर मार दी। बेदिया परिवार रांची जिले के खिरबेगा गांव का बताया जा रहा है। आंखों में आंसू लिए देवी ने कहा, "मेरे बेटे सहित मेरे तीन ग्रामीणों की वापसी एक मरहम की तरह होगी। चूंकि गांव में मृत्यु के बाद की रस्में चल रही हैं, इसलिए हमें जल्द ही खुश होने की वजह चााहिए।

मजदूरों के जल्द सुरक्षित बाहर निकलने की उम्मीद

गांव के एक सामाजिक कार्यकर्ता त्रिवेणी बेदिया ने कहा कि वे बचाव अभियान की अपडेट लेने के लिए अनिल के बड़े भाई सुनील बेदिया के साथ नियमित संपर्क में हैं। सुनील उत्तरकाशी में हैं। उन्होंने बताया कि "अनिल के दो अन्य ग्रामीणों के साथ एक सुरंग में फंसने के बाद, हमने वहां काम कर रहे चार अन्य लोगों का हालचाल लेने के लिए सुनील को उत्तराखंड भेजा। उसने मजदूरों की सुरक्षित वापसी की उम्मीद जताई है जिससे हमने थोड़ी राहत की सांस ली है। लेकिन बचाव कार्य में लगातार आ रह बाधाओं ने हमें परेशान कर दिया है।

ट्रेंडिंग वीडियो