scriptलंदन भाग सकता है संदेशखाली का मुख्य आरोपी शाहजहां शेख, ईडी ने अदालत में जताई शंका | Sandeshkhali main accused Shahjahan Sheikh may flee to London ED expressed doubt in court | Patrika News

लंदन भाग सकता है संदेशखाली का मुख्य आरोपी शाहजहां शेख, ईडी ने अदालत में जताई शंका

locationनई दिल्लीPublished: Feb 24, 2024 08:27:52 am

Submitted by:

Prashant Tiwari

Sandeshkhali: ईडी के वकील ने कोर्ट को बताया कि शाहजहां इतना प्रभावशाली है कि हमले के दिन उसने संदेशखाली में ईडी और सीएपीएफ कर्मियों पर हमला शुरू करने के लिए केवल 15 मिनट के अंदर लगभग 3,000 लोगों की भीड़ जुटा ली थी।

 Sandeshkhali main accused  Shahjahan Sheikh may flee to London ED expressed doubt in court



संदेशखाली में हिंदू महिलाओं के साथ हुए दुष्कर्म की घटना सामने आने के बाद रोज नए-नए खुलासे हो रहे है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के वकील ने शुक्रवार को अदालत से कहा कि 5 जनवरी को संदेशखाली में ईडी और सीएपीएफ कर्मियों पर हमले का आरोपी मास्टरमाइंड और फरार तृणमूल कांग्रेस नेता शेख शाहजहां को अगर अग्रिम जमानत दे दी जाएगी तो वह लंदन भाग सकता है। ईडी के वकील ने तर्क दिया कि शाहजहां इतना प्रभावशाली है कि हमले के दिन उसने संदेशखाली में ईडी और सीएपीएफ कर्मियों पर हमला शुरू करने के लिए केवल 15 मिनट के अंदर लगभग 3,000 लोगों की भीड़ जुटा ली थी।

ed.jpg


ED पर हमले के वक्त घर में मौजूद था शेख शाहजहां

ईडी के वकील ने कोर्ट को बताया कि हमें उसके मोबाइल फोन के टावर लोकेशन से पता चला कि जिस वक्त ED की टीम पर हमला हुआ वह उस वक्‍त अपने आवास पर था। हमला उसके सामने हुआ था। इससे पता चलता है कि वह इलाके में कितना प्रभावशाली है।" वहीं, अपने जवाबी तर्क में शाहजहां के वकील ने केंद्रीय एजेंसी के वकील द्वारा दी गई दलील को विरोधाभासी बताया।

शाहजहां जांच प्रक्रिया में पूरा सहयोग देने के लिए तैयार

शाहजहां के वकील ने पूछा, “एक तरफ, वे दावा कर रहे हैं कि मेरे मुवक्किल ने उस दिन हमले के लिए भीड़ जुटाई थी। जबकि वही स्थानीय लोगों की भीड़ अब संदेशखाली की सड़कों पर उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रही है। यह कैसे संभव है, यह बिल्‍कुल विरोधाभासी बात है।”

जवाब में ईडी के वकील ने दलील दी कि अगर शाहजहां निर्दोष है तो हमले के दिन से ही फरार क्यों है?

इस पर शाहजहां के वकील ने कहा कि उनका मुवक्किल जांच प्रक्रिया में पूरा सहयोग देने के लिए तैयार है, बशर्ते उसे जबरन कार्रवाई न किए जाने का भरोसा मिले। इसके बाद जज ने फैसला सुरक्षित रख लिया।

ट्रेंडिंग वीडियो