scriptSewer Rats could become the reason of new corona variant cryptic | गंदी नाली के चूहे बन सकते हैं कोरोना के नए वेरिएंट की वजह, अमेरिकी वैज्ञानिकों ने जताई चिंता | Patrika News

गंदी नाली के चूहे बन सकते हैं कोरोना के नए वेरिएंट की वजह, अमेरिकी वैज्ञानिकों ने जताई चिंता

कोरोना के एक और नए वेरिएंट से दुनियाभर में चिंता बढ़ गई है। अमेरिका के एक एक्सपर्ट का कहना है कि गंदी नाली के चूहों की वजह से कोरोना का नया वेरिएंट देखने को मिल सकता है। एक अमेरिकी शोधकर्ताओं की टीम ने न्यू यॉर्क की नालियों में इस वेरिएंट के करीब चार मामले दर्ज किए हैं।

नई दिल्ली

Updated: February 12, 2022 07:09:00 pm

कोरोनावायरस जबसे दुनिया में आया है तबसे जीवन बेहद अलग और मुश्किल हो गया है। पिछले दो साल से कोरोना के नए नए वेरिएंट देखने को मिल रहे हैं। कभी डेल्टा तो कभी ओमिक्रॉन। अब कोरोना के एक और नए वेरिएंट से दुनियाभर में चिंता बढ़ गई है। अमेरिका के एक एक्सपर्ट का कहना है कि गंदी नाली के चूहों की वजह से कोरोना का नया वेरिएंट देखने को मिल सकता है। अमेरिकी शोधकर्ताओं की टीम ने न्यू यॉर्क की नालियों में इस वेरिएंट के करीब चार मामले दर्ज किए हैं। इस नए वेरिएंट को फिलहाल क्रिप्टिक (Cryptic) नाम दिया गया है।
Sewer Rats could become the reason of new corona variant cryptic
गंदी नाली के चूहे बन सकते हैं कोरोना के नए वेरिएंट की वजह, अमेरिकी वैज्ञानिकों ने जताई चिंता

जानवरों में वेरिएंट का पता लगाना चिंताजनक:


कुछ मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एक रिसर्चर ने नोट किया कि ये थ्योरी अमीनो-एसिड परिवर्तनों की वजह से पैदा हुई है। इससे पहले, चूहों की वजह से वायरस के अलग-अलग वेरिएंट सामने आ चुके हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि जानवरों में नए वेरिएंट का पता लगाना चिंताजनक है।

पशु-आधारित वेरिएंट्स अनिश्चित काल तक बेकाबू होकर इंसानों के बीचे में फैल सकते हैं। ये वेरिएंट्स संभावित रूप से नए और अपरिचित रूपों में मनुष्यों में फैल सकते हैं। वायरोलॉजिस्ट हाई अलर्ट पर हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि यह कहा गया है कि सफेद पूंछ वाले हिरण आसानी से वायरस से संक्रमित हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें

ओमिक्रॉन वायरस के इलाज में कौन सी दवा है सही, जानिए WHO की गाइडलाइन



 

गंदे पानी से फैल सकता है वायरस:


एक रिसर्चर द्वारा की गई स्टडी में कहा गया, हम इन वेरिएंट्स को लेकर कई तरह की परिकल्पनाएं पेश कर रहे हैं। इसमें ये संभावना है कि ये वेरिएंट बिना सैंपल लिए गए कोविड संक्रमित व्यक्ति से मिल सकता है। चूहों पर स्टडी कर रही एक रिसर्च टीम के सदस्य ने कहा कि उन्होंने चूहों के मल का नमूना लिया है।

ये चूहे अंधेरी नालियों में रहने वाले थे। रिसर्चर्स का मानना है कि चूहों तक ये वायरस मानव और जानवरों के मल खाने के साथ-साथ सीवर का पानी पीने से भी पहुंच सकता है। अभी तक गंदे पानी की वजह से किसी भी तरह के वायरस के सामने आने की जानकारी नहीं है। लेकिन इसकी पूरी तरह से संभावना बनी हुई है।

नए वेरिएंट्स आने की संभावना अधिक: WHO


गौरतलब है कि दुनियाभर में कोरोनावायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट के केस सामने आ रहे हैं। डेल्टा वेरिएंट के बाद ये वेरिएंट तेजी से फैला है और इसने लोगों को अपना शिकार बनाया है।ऐसे में दुनियाभर में इस बात की चर्चा हो रही है कि जल्द ही नया वेरिएंट भी देखने को मिल सकता है।

हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के एक शीर्ष अधिकारी ने चेताया है कि कोरोना का ओमिक्रॉन वेरिएंट, इसका अंतिम वेरिएंट नहीं होगा और अन्य नये वेरिएंट्स के सामने आने की अत्याधिक संभावना है। WHO वर्तमान में ओमिक्रॉन के चार अलग-अलग वेरिएंट्स पर नजर बनाए हुए है।


यह भी पढ़ें

WHO की बड़ी चेतावनी, जल्द सामने आ सकता है कोरोना का नया वेरिएंट



सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.