scriptSpiceJet sends 80 pilots on 3-month leave without pay, know why | SpiceJet के 80 पायलट जबरन बिना वेतन छुट्टी पर भेजे गए, जानें क्यों | Patrika News

SpiceJet के 80 पायलट जबरन बिना वेतन छुट्टी पर भेजे गए, जानें क्यों

SpiceJet: स्पाइसजेट की आर्थिक हालत ठीक नहीं चल रही है। शायद यही वजह है कि उसने अपने 80 पायलटों को तीन महीने के लिए बिना वेतन अवकाश पर भेज दिया है।

Updated: September 20, 2022 09:35:58 pm

एयरलाइन कंपनी स्पाइसजेट की आर्थिक स्थिति शायद कमजोर चल रही है तभी तो उसने अपने 80 पायलटों को जबरन छुट्टी पर भेज दिया है। इस कंपनी का ये निर्णय तब सामने या रहा है जब DGCA ने उसकी 50 फीसदी उड़ानों पर बैन लगा रखा है।
SpiceJet sends 80 pilots on 3-month leave without pay, know why
SpiceJet sends 80 pilots on 3-month leave without pay, know why
जबरन छुट्टी पर भेजे गए SpiceJet के 80 पायलट
रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्पाइसजेट ने मंगलवार को लगभग 80 पायलटों को तीन महीने के लिए बिना वेतन के ही छुट्टी पर भेज दिया है। स्पाइसजेट ने अपने बयान में कहा, 'ये कदम एयरलाइन के किसी कर्मचारी को नौकरी से बाहर नहीं करने की नीति के अनुरूप है, कोरोना महमारी के दौरान भी एयरलाइन ने कर्मचारियों को नौकरी से नहीं निकाला था। ये कदम पायलटों की संख्यालागत को युक्तिसंगत बनाने के लिए अस्थाई तौर पर उठाया गया है।'

सूत्रों के अनुसार, बोइंग और Q400 बेड़े के पायलटों को लागत कम करने के लिए बिना वेतन के छुट्टी पर जाने के लिए कहा गया है। इससे कंपनी को लागत कम करने और अपने खर्च करने में मदद मिलेगी।
यह भी पढ़ें

यह एयरलाइन मुफ्त बांट रही 50 लाख टिकट, 25 सितंबर तक बुकिंग कराने का मौका

DGCA ने बैन किये थे 50 फीसदी उड़ानें


बता दें कि स्पाइसजेट के कुल 90 विमान हैं लेकिन DGCA द्वारा रोक लगाए जाने के बाद से वो केवल 50 विमान का ही संचालन कर रहा है। दरअसल, 27 जुलाई 2022 को DGCA ने स्पाइसजेट विमानों में आ रही तकनीकी खामी को देखते हुए बड़ा एक्शन लिया था। DGCA ने 8 हफ्तों के लिए इसकि 50 फीसदी उड़ानों पर रोक लगा दी थी। तब DGCA ने कहा भी था कि स्पाइसजेट को अपनी पूरी उड़ानों के लिए ये साबित करना होगा कि वो अतिरिक्त भार उठाने की क्षमता हो। इससे कंपनी को पहले ही नुकसान हो रहा था।

साल दर साल कंपनी का बढ़ा है घाटा


अगर कंपनी की आर्थिक हालत देखें तो इसी वर्ष जून तिमाही में इसका घाटा बढ़कर 784 करोड़ रुपये तक पहुँच गया था। पिछले वित्त वर्ष में समान तिमाही में कंपनी को 729 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। इससे पहले वर्ष 2018-19 में 316 करोड़ रुपये, 2019-20 में 934 करोड़ रुपये और 2020-21 में 998 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। इसके शेयर में भी भारी गिरावट देखने को मिली है।


सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए KN त्रिपाठी का नामांकन पत्र रद्द, मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर में मुकाबलाVIDEO : शशि थरूर का खुलासा, बताया- किसके कहने पर लड़ रहे है अध्यक्ष पद का चुनाव5G in India: नए जमाने की तकनीक 5G से बदल जाएगी आपकी लाइफ, जानिए कैसेमर्सिडीज बेंज की कार लॉन्चिंग पर बोले परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, 'मैं नहीं खरीद सकता आपकी कार', उत्पादन बढ़ाने पर दिया जोर5G IN INDIA: टेक्नोलॉजी के नए युग का आगाज, PM मोदी ने लॉन्च की 5G सर्विस, अब 10 गुना होगी इंटरनेट स्पीड5G IN INDIA: इन 13 शहरों में सबसे पहले मिलेगी 5G सर्विस, देखिये पूरी लिस्टचीन के खिलाफ दिल्ली में तिब्बती युवाओं का प्रदर्शन, मांगी आजादीIAEA में भारत ने चला ऐसा दाव, चीन ने पीछे खींचे अपने कदम, दुनिया कर रही तारीफ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.