scriptहम बच्चों को इंटेलिजेंट तो बना रहे हैं, लेकिन समझदार नहीं: पत्रिका समूह के प्रधान संपादक गुलाब कोठारी | We are making children intelligent, but not wise: Gulab Kothari, editor-in-chief of Patrika Group | Patrika News
राष्ट्रीय

हम बच्चों को इंटेलिजेंट तो बना रहे हैं, लेकिन समझदार नहीं: पत्रिका समूह के प्रधान संपादक गुलाब कोठारी

Gulab Kothari, editor-in-chief of Patrika Group: पत्रिका समूह के प्रधान संपादक गुलाब कोठारी ने कहा है कि राजनीति से लेकर, व्यापार और पढ़ाई लिखाई तक में परिस्थितियां बदल रही हैं।

नई दिल्लीJun 25, 2024 / 08:57 am

Shaitan Prajapat

Gulab Kothari, editor-in-chief of Patrika Group: पत्रिका समूह के प्रधान संपादक गुलाब कोठारी ने कहा है कि राजनीति से लेकर, व्यापार और पढ़ाई लिखाई तक में परिस्थितियां बदल रही हैं। इस बात पर सामूहिक चिंतन करना होगा कि बदलाव के इस दौर में हम आने वाली पीढ़ी के लिए क्या छोड़ कर जाएंगे। कोठारी सोमवार को सूरत में ‘संवाद सेतु’ कार्यक्रम के तहत समाज के प्रबुद्ध लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इस बात पर चिंता जताई कि आज हम बच्चों को इंटेलिजेंट तो बना रहे हैं, लेकिन समझदार नहीं। कई जगह तो शिक्षक भी समझदार नहीं है। उन्होंने कहा कि 5-10 लाख रुपए के पैकेज की नौकरी हासिल करने वाले बच्चे की पढ़ाई पर आज 20-25 लाख रुपए खर्च हो रहे हैं। पढ़ाने के चक्कर में हमने अपने बच्चों की अंगुली छोड़ दी है।

सब मोबाइल में मशगूल

संवाद सेतु कार्यक्रम में शहर के गणमान्य लोग शामिल हुए, जिनमें शहर के समाजसेवी, कारोबारी, नेता, शिक्षाविदों के अलावा नई पीढ़ी के युवा भी शामिल हुए। मोबाइल के चक्कर में अलग-थलग पड़ रहे बच्चों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि मोबाइल फोन आदमी से अधिक अच्छा लगने लगा है। सब मोबाइल में इतने मशगूल रहते हैं कि न माता-पिता को बच्चों का ध्यान रहता और न ही बच्चों को माता-पिता का।
राजनीति में आए बदलाव का जिक्र करते हुए कोठारी ने कहा कि नेताओं को अपनी पार्टी की चिन्ता तभी तक रहती है, जब तक टिकट नहीं मिल जाए। उसके बाद वे सिर्फ अपने परिवार की चिंता में लग जाते हैं। देश व समाज को दिशा देने के लिए सामूहिक चिंतन जरूरी है।

पेड़ बनने के लिए तकलीफ सहनी पड़ेगी

कोठारी ने कहा, यदि किसी बीज को बड़ा फलदार और छायादार पेड़ बनाना है तो उसे अपने अस्तित्व को छोडऩा होगा। सर्दी गर्मी आदि मौसम की मार झेलनी पड़ेगी, तभी वह बड़ा फलदार और छायादार पेड़ बनेगा। हमें उस सार्थकता को अपने अंदर ढूंढना पड़ेगा। संवाद सेतु कार्यक्रम में आगंतुकों ने सूरत शहर के मुद्दों व विकास की संभावनाओं पर चर्चा की। प्रमुख लोगों में पदमश्री मथुर भाई सबाणी, विधायक संगीता पाटील, टेक्सटाइल एसोसिएशन के अध्यक्ष कैलाश हाकिम, लक्ष्मीपति समूह के निदेशक संजय सरावगी, पूर्व मेयर हेमाली बोधावाला, प्रतिभा ग्रुप के प्रमोद चौधरी, वनिता विश्राम महिला विश्वविद्यालय के कुलपति दक्षेश ठाकर, छायडो के अध्यक्ष भरत भाई शाह, हीरा कारोबारी दीपक चौकसी आदि शामिल थे। इस अवसर पर सूरत के विभिन्न सामाजिक संगठनों की ओर से कोठारी का अभिन्ंदन भी किया गया।

Hindi News/ National News / हम बच्चों को इंटेलिजेंट तो बना रहे हैं, लेकिन समझदार नहीं: पत्रिका समूह के प्रधान संपादक गुलाब कोठारी

ट्रेंडिंग वीडियो