दिल्ली: सीसीटीवी लगाने का प्रस्ताव कैबिनेट से पास, सीएम केजरीवाल ने विधानसभा में दी जानकारी

दिल्ली: सीसीटीवी लगाने का प्रस्ताव कैबिनेट से पास, सीएम केजरीवाल ने विधानसभा में दी जानकारी

Anil Kumar | Updated: 10 Aug 2018, 08:58:08 PM (IST) New Delhi, Delhi, India

दिल्ली विधानसभा के मानसून सत्र के आखिरी दिन शुक्रवार को कैबिनेट ने राष्ट्रीय राजधानी में महिलाओं की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी।

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा के मानसून सत्र के आखिरी दिन शुक्रवार को कैबिनेट ने राष्ट्रीय राजधानी में महिलाओं की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विधानसभा में इसकी जानकारी दी। जानकारी देते हुए केजरीवाल ने केंद्र सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल के कमिटी ने सीसीटीवी लगाने के लिए लाइसेंस जरूरी कर दिया था लेकिन मैं पूछना चाहता हूं कि भाजपा ने राफेल डील से क्या कम कमाई की है जो अब सीसीटीवी लगाने के नाम पर कमाना चाहती है?

दिल्ली विधानसभा में मानसून सत्र के अंतिम दिन लगे मोदी महिला विरोधी के नारे

भाजपा पर केजरीवाल का आरोप

आपको बता दें कि केजरीवाल ने विधानसभा में बोलते हुए भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीते कुछ वर्षों से दिल्ली में अपराध बढ़ा है और खासकर महिलाओं एवं लड़कियों के प्रति जघन्य अपराध में वृद्धि हुई है। उन्होंने सीधी-सीधे कहा कि दिल्ली पुलिस केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन आता है। जो कि राजधानी में कानून-व्यवस्था को संभालने में नाकाम साबित हुई है। उन्होंने कहा कि यदि दिल्ली के हर कोने में सीसीटीवी लग जाएगा तो फिर अपराधियों के मन में एक डर रहेगा कि कहीं वे पकड़े ने जाएं। इससे अपराध में लगाम लग पाएगा। बता दें कि भाजपा पर कटाक्ष करते हुए केजरीवाल ने कहा कि यदि सीसीटीवी कैमरे लग जाएगें तो फिर भाजपा नेता चुनाव के दौरान पैसे और शराब नहीं बांट पाएंगे। बता दें कि विधानसभा में केजरीवाल ने बोलते हुए दिल्ली की महिलाओं को बधाई दी और कहा कि भाजपा और कांग्रेस ने इस योजना को रोकने की पूरी कोशिश की। लेकिन हम आज जनता के सहयोग से उन सभी बाधाओं को पार चुके हैं और उम्मीद है कि ये लोग अब अड़चनें पैदा नहीं करेंगे और महिलाओं की सुरक्षा के मद्देनजर सीसीटीवी कैमरे लगाने में सहयोग करेंगे।

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned