Parliament Monsoon Session 2021: संजय राउत का आरोप, राज्यसभा में लागू किया गया 'मार्शल लॉ'

शिवसेना सांसद संजय राज्यसभा में मार्शल लॉ (security marshals) लागू करने का आरोप लगाया है। उन्होंने एक तस्वीर साझा कर लिखा, 'क्या यही हमारा संसदीय लोकतंत्र है? लोकतंत्र के मंदिर में मार्शल कानून।'

By: Nitin Singh

Published: 12 Aug 2021, 11:53 AM IST

नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र (Parliament Monsoon Session 2021) में पेगासस और कृषि कानूनों सहित कई मुद्दों पर दोनों सदनों में विपक्ष का हंगामा जारी है। ऐसे में हर रोज दोनों सदनों की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ रही है। इसी बीच शिवसेना सांसद संजय राउत का बड़ा बयान सामने आया है। संजय राउत ने राज्यसभा में मार्शल लॉ होने का आरोप लगाया है।

दरअसल, उन्होंने ट्विटर पर एक तस्वीर पोस्ट की है जिसमें मार्शल सांसदों का रास्ता रोकते हुए नजर आ रहे हैं। इस तस्वीर के साथ संजय राउत ने लिखा 'क्या यही हमारा संसदीय लोकतंत्र है? लोकतंत्र के मंदिर में मार्शल कानून।' राउत ने कहा कि विधेयक पारित करने के दौरान सुरक्षा मार्शलों को बुलाया गया था।

इसके साथ ही संजय राउत ने कहा, क्या आप हमें डराना चाहते हैं? आज हम खड़गे जी के कक्ष में बैठक करेंगे और तय करेंगे कि क्या करना है? उन्होंने बताया कि विपक्ष एकजुट है। 20 अगस्त को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात करेंगी। इस बैठक में महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे भी शामिल शिवसेना सांसद संजय राउत होंगे।

इस मुद्दे पर हो रही थी चर्चा

गौरतलब है कि बुधवार को विवादास्पद सामान्य बीमा व्यवसाय (राष्ट्रीयकरण) संशोधन विधेयक, 2021 को राज्यसभा में बीच पारित किया गया। वहीं विपक्ष विधेयक को एक प्रवर समिति (Select committee) को भेजने की मांग कर रहा था। इस दौरान आरडेडी सांसद मनोज के झा ने कहा कि पूरा देश यहां लोकतंत्र की हत्या देख रहा है। 'मैं अध्यक्ष से भी पूछता हूं कि आप कैसे सा होने दे सकते हैं।'

सदन में मार्शल लॉ

जब सरकार ने हंगामे के बीच बिल पर चर्चा के लिए दबाव डाला, तो सीपीआई सांसद बिनॉय विश्वम ने रिपोर्टर की मेज पर चढ़ने की कोशिश की। सभापति बीजेडी सांसद सस्मित पात्रा ने तुरंत सदन को स्थगित कर दिया। इसके बाद कुछ ही देर में 10 से अधिक महिला मार्शल और लगभग 50 पुरुष मार्शल ने रिपोर्टर की मेज के चारों ओर एक मानव श्रृंखला बनाई। उन्होंने विपक्षी सदस्यों के वेल में जाने का रास्ता भी रोक दिया था।

Show More
Nitin Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned