NASA-SpaceX रॉकेट की लॉन्चिंग टली, खराब मौसम बना बाधा

  • अगर इसकी सफल लॉन्चिंग हो जाती तो स्पेसएक्स ( SpaceX ) अंतरिक्ष यात्रियों ( Astronauts ) को अंतरिक्ष में भेजने वाली पहली निजी कंपनी का तमगा हासिल कर लेती। दरअसल यह पहला मौका है जब सरकार की बजाय कोई निजी कंपनी अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजेगी।

By: Piyush Jayjan

Updated: 28 May 2020, 09:43 AM IST

नई दिल्ली।अमेरिका का ह्यूमन स्पेस मिशन ( Human Space Mission ) एक नया मुकाम छूने की दहलीज पर खड़ा था कि तभी खराब मौसम की वजह से लॉन्चिंग को रोकना पड़ा। SpaceX के Falcon 9 रॉकेट में Crew Dragon Spacecraft के साथ दो ऐस्ट्रनॉट्स इंटरनैशनल स्पेस स्टेशन जाने को लॉन्च के लिए तैयार थे। लेकिन खराब मौसम की वजह से लॉन्चिंग नहीं हो पाई।

अब 30 मई को एक बार फिर से लॉन्चिंग ( Launching ) का प्रयास किया जाएगा। अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन में पूर्वनिर्धारित समय शाम चार बजकर 33 मिनट पर इसकी लॉन्चिंग की जानी थी, लेकिन मगर बारिश और तूफान की वजह से ऐसा संभव नहीं हो पाया।

नासा ( NASA ) ने अपने बयान में कहा, 'हम आज इस मिशन को लॉन्च नहीं करने जा रहे हैं। मौसम को देखते हुए लॉन्च को टाला जा रहा है। अब लॉन्च की अगली संभावना 30 मई को अमेरिकी समय के मुताबिक दोपहर 3 बजकर 22 मिनट पर होगी। इसकी लाइव कवरेज ( Live Coverage ) सुबह 11 बजे से शुरू होगी।

आपको बता दें कि अगर इसकी सफल लॉन्चिंग हो जाती तो स्पेसएक्स ( SpaceX ) अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजने वाली पहली निजी कंपनी का तमगा हासिल कर लेती। दरअसल यह पहला मौका है जब सरकार की बजाय कोई निजी कंपनी अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजेगी।

 

केनेडी अंतरिक्ष केंद्र ( Kennedy Space Center ) से नासा प्रशासक जिम ब्रिडेन्सटाइन ने कहा कि अंतरिक्ष एजेंसी और स्पेस एक्स इस रवानगी से जुड़े सभी लोगों से कह चुके हैं कि जब भी कोई चिंता या परेशानी दिखे तो वह उसी क्षण उल्टी गिनती रोकने के लिए पूरे तरीके से स्वतंत्र हैं।

ब्रिडेन्सटाइन ने कहा कि हमारे लिए हर एक अंतरिक्ष यात्री ( Astronauts ) की सुरक्षा सबसे ज्यादा मायने रखती है। उन्होंने दोनों अंतरिक्ष यात्रियों को सोमवार को संदेश भेजकर पूछा था, 'अगर आप किसी भी कारणवश चाहते हैं कि मैं इसे रोक दूं तो आप कहें। मैं इसे बगैर कोई देरी किए एक क्षण में रोक दूंगा।'

जिसके जवाब में अंतरिक्षयात्रियों ने कहा, 'हम इस यात्रा के लिए तैयार हैं। स्पेसएक्स को अमेरिका, कनाडा और उत्तरी अटलांटिक से लेकर आयरलैंड तक समुद्र में शांत लहरों और शांत हवा की जरूरत है ताकि किसी आपातकाल स्थिति में आसानी से रॉकेट को उतारा जा सके।

 

 

Show More
Piyush Jayjan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned