scriptप्रतिबंधित इंजेक्शन की तस्करी का नया तरीका,पुलिस से बचने ट्रेन से उतरकर लिया एम्बुलेंस का सहारा | A new way of smuggling banned injections, got off the train to escape from the police and took the help of an ambulance | Patrika News
समाचार

प्रतिबंधित इंजेक्शन की तस्करी का नया तरीका,पुलिस से बचने ट्रेन से उतरकर लिया एम्बुलेंस का सहारा

चार आरोपी गिरफ्तार, 255 नग इंजेक्शन के साथ 108 एम्बुलेंस भी जब्त

शाहडोलJun 15, 2024 / 12:11 pm

Kamlesh Rajak

चार आरोपी गिरफ्तार, 255 नग इंजेक्शन के साथ 108 एम्बुलेंस भी जब्त
शहडोल.
एम्बुलेंस से नशीली दवाइयों की सप्लाई करते हुए कोतवाली पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपी ट्रेन के माध्यम से नशीली दवाइयों की खेप लेकर भोपाल से शहडोल आ रहे थे। बाद में पुलिस को चकमा देने के लिए मुदरिया स्टेशन से 108 एम्बुलेंस का सहारा ले लिया लेकिन यहां भी कार्रवाई से नहीं बच सके। एंबुलेंस से परिवहन की जानकारी पुलिस को लगते ही आकाशवाणी के पास घेराबंदी कर एम्बुलेंस क्रमांक सीजी 04 एनजेड 605 को जब्त कर तलाशी ली तो 255 नग प्रतिबंधित इंजेक्शन कीमत 25 हजार रुपए की खेप मिली। पुलिस ने एम्बुलेंंस चालक विजय केवट निवासी निवासी सुभाष गंज उमरिया के साथ राहुल शुक्ला, संदीप सोनी व आदित्य उपाध्याय तीनों निवासी कल्याणपुर को गिरफ्तार करते हुए वाहन को जब्त कर लिया।
मुदरिया में एम्बुलेंस चालक कर रहा था इंतजार

पुलिस ने बताया कि गुरुवार को आरोपी ट्रेन के माध्यम से भोपाल से प्रतिबंधित इंजेक्शन की खेप लेकर ट्रेन से मुदरिया स्टेशन पहुंचे, यहां शाम को एम्बुलेंस चालक विजय केवट वाहन लेकर ट्रेन आने का इंतजार कर रहा था। जैसे ही ट्रेन मुदरिया पहुंची तो तीनों आरोपी उतकर एम्बुलेंस में सवार हो गए। पुलिस के पूछताछ में वाहन चालक ने बताया कि आरोपियों से पूर्व से जान पहचान थी। ज्यादा पैसा देने का लालच देकर मुदरिया से शहडोल आ रहे थे। पुलिस को जानकारी लगते ही आकशवाणी के पास एम्बुलेंस को रोकने का प्रयास किया तो पुलिस को देखते ही चालक वाहन की गति बढ़ाते हुए भागने का प्रयास किया, जिसे घेराबंदी कर पकड़ा गया है। पुलिस ने आरोपियों पर मामला दर्ज किया है।
दो टीम लगाई, एक शहडोल से रखी थी नजर, दूसरी उमरिया से
पुलिस अधिकारियों के अनुसार, आरोपियों का लंबे समय से इनपुट मिल रहा था। पुलिस इन पर नजर रखे हुए थी। पुलिस ने कार्रवाई के लिए दो टीम लगाई थी। इसमें एक शहडोल से नजर रखी हुई थी और दूसरी टीम उमरिया से पीछा कर रही थी। मुदरिया में लोकेशन बदलते ही एंबुलेंस पर कार्रवाई की गई।
मुख्य आरोपी पर पूर्व में हत्या का मामला है दर्ज
नशीले इंजेक्शन की तस्करी करने वाले मुख्य आरोपी राहुल शुक्ला पर पूर्व में हत्या का मामला दर्ज है। वहीं आरोपी के अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई भी प्रस्तावित थी, रसूख के दम पर अतिक्रमण हटाने की फाइल को दबा दिया गया था। इसके साथ ही कुछ महीने पूर्व पुलिस नशीली दवाइयों की अवैध बिक्री में आरोपी को हिरासत में लिया था, बाद में पूछताछ के बाद छोड़ दिया था। आरोपी हत्या के मामले में जमानत पर रिहा होने के बाद अवैध गतिविधियों पर संलिप्त रहता था, जिसकी जानकारी बीट प्रभारियों को भी थी। कल्याणपुर बीट में लगातार अवैध गतिविधियों के बावजूद अधिकारी बीट प्रभारियों पर कार्रवाई नहीं की जा रही है।
इनका कहना
आरोपी एंबुलेंस से नशीली दवाइयों की खेप ला रहे थे। पुलिस लंबे समय से इन आरोपियों पर नजर रखी थी। बड़ी मात्रा में नशीली दवाइयां जब्त की है। आरोपियों से पूछताछ कर सुराग जुटा रहे हैं।
कुमार प्रतीक, एसपी शहडोल

Hindi News/ News Bulletin / प्रतिबंधित इंजेक्शन की तस्करी का नया तरीका,पुलिस से बचने ट्रेन से उतरकर लिया एम्बुलेंस का सहारा

ट्रेंडिंग वीडियो