scriptनिगम…कुछ इस तरह बदले राजनीतिक समीकरण तो पार्षद ढूंढने लगे नई भूमिका | Patrika News
समाचार

निगम…कुछ इस तरह बदले राजनीतिक समीकरण तो पार्षद ढूंढने लगे नई भूमिका

महापौर विक्रम अहके के भाजपा में प्रवेश के बाद नगर निगम में कांग्रेस परिषद प्रभावहीन हो गई है। भाजपा का दबदबा बढऩे से पार्टी पार्षद उत्साहित है। वे सभापति बनने के ख्वाब बुन रहे हैं।

छिंदवाड़ाJun 23, 2024 / 01:10 pm

manohar soni

छिंदवाड़ा.महापौर विक्रम अहके के भाजपा में प्रवेश के बाद नगर निगम में कांग्रेस परिषद प्रभावहीन हो गई है। भाजपा का दबदबा बढऩे से पार्टी पार्षद उत्साहित है। वे सभापति बनने के ख्वाब बुन रहे हैं। अभी अमरवाड़ा विधानसभा उपचुनाव में भाजपा नेताओं की व्यस्तता बनी हुई है। संभावना है कि उपचुनाव के परिणाम तिथि 13 जुलाई के बाद नई एमआईसी का गठन हो सकता है।
बीती 14 जुलाई को मुख्यमंत्री डॉ.मोहन यादव के आगमन के समय महापौर विक्रम अहके पुन: भाजपा में शामिल हो गए थे। उसके बाद उन्होंने बातचीत में नई एमआईसी गठन के संकेत दिए थे।
तब से ही पार्षदों के बीच नए सभापतियों के नाम की सुगबुगाहट चल रही है।
…..
दो साल से थी कांग्रेस की परिषद, अब भाजपा की

नगर निगम में पिछले दो साल से कांग्रेस की परिषद थी। वर्ष 2022 की जुलाई में कांग्रेस से महापौर विक्रम अहके निर्वाचित हुए थे और 28 पार्षद भी कांग्रेस से आए थे। निगम अध्यक्ष सोनू मागो भी इन पार्षदों की ओर से चुने गए। लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस में टूट का सिलसिला चला। इससे कांग्रेस के 13 पार्षद और सभापतियों ने भाजपा की सदस्यता ली थी। इससे निगम के 48 पार्षदों में भाजपा पार्षदों की संख्या 33 हो गई है। अब महापौर ने भी पुन: भाजपा में प्रवेश कर लिया।
इससे कांग्रेस परिषद प्रभावहीन हो गई और भाजपा की परिषद सत्तारूढ़ हो गई है। जब परिषद की पहली बैठक होगी, तब इसका नजारा भी अलग होगा।
….
उपचुनाव में व्यस्त भाजपा, जुलाई में बढ़ेगी हलचल

इस समय अमरवाड़ा विधानसभा उपचुनाव में भाजपा व्यस्त है। महापौर विक्रम अहके, सांसद बंटी साहू, नेता प्रतिपक्ष विजय पाण्डे समेत अन्य भाजपा नेता चुनाव प्रचार में जुटे हैं। ये व्यस्तता आगामी 13 जुलाई तक मतगणना के परिणाम आते तक रहेगी। नेता प्रतिपक्ष पाण्डे ने भी स्वीकार किया कि निगम में अब भाजपा की परिषद है। मतगणना की तिथि के बाद नई एमआईसी का गठन होगा। उसके बाद उनके पदनाम भी बदल जाएंगे। इसके साथ ही भाजपा के बहुमत से नया निगम अध्यक्ष भी बनेगा।
…….
पार्षदों में सभापति बनने की सुगबुगाहट

नगर निगम में भाजपा की सत्ता आ जाने से पार्षदों को नई मेयर-इन-काउंसिल में सभापति बनने का इंतजार हैं। कहा जा रहा है कि महापौर जब एमआईसी बनाएंगे तो सांसद के साथ भाजपा संगठन के हिसाब से सभापतियों का चयन होगा। इसमें भाजपा के पुराने पार्षदों के साथ कांग्रेस से भाजपा में आए पार्षदों को भी स्थान मिलेगा। फिर नई जिम्मेदारी के साथ भाजपा परिषद की गतिविधियां आगे बढ़ेगी। नए विकास कार्य भी इस परिषद के माध्यम से कराए जाएंगे।
……..

Hindi News/ News Bulletin / निगम…कुछ इस तरह बदले राजनीतिक समीकरण तो पार्षद ढूंढने लगे नई भूमिका

ट्रेंडिंग वीडियो