scriptराजनीति…लोकसभा चुनाव में दिलाई तो निगम-मंडलों की नियुक्ति से आस | Patrika News
समाचार

राजनीति…लोकसभा चुनाव में दिलाई तो निगम-मंडलों की नियुक्ति से आस

भाजपा की जीत से उत्साहित वरिष्ठ नेता, निगम में भी नियुक्त नहीं हो पाए 6 एल्डरमैन

छिंदवाड़ाJun 24, 2024 / 05:58 pm

manohar soni

छिंदवाड़ा.लोकसभा चुनाव समाप्त होने के बाद कई सियासी चेहरे अपने लिए किसी राज्य स्तर के पदों की संभावनाएं तलाश रहे हैं। उनकी नजर नगर निगम में एमआइसी के विस्तार के साथ निगम, मंडल और बोर्ड के अध्यक्ष-उपाध्यक्ष पद पर है। लम्बे समय से निगम में 6 एल्डरमैन की नियुक्ति भी नहीं हुई है।
जिले की राजनीति में यह पहला अवसर पर है जब भाजपा सांसद बंटी साहू ने छिंदवाड़ा में 45 साल से काबिज कमलनाथ और उनके परिवार पर एतेहासिक 1.13 लाख वोट से जीत हासिल की है। इस विजय में न केवल भाजपा के पुराने नेताओं का योगदान है बल्कि कांग्रेस से भाजपा में आए पूर्व मंत्री दीपक सक्सेना, अमित सक्सेना, बंटी पटेल, पार्षद, सभापति समेत एक हजार से अधिक नेताओं-कार्यकर्ताओं की मेहनत भी है। इससे पार्षद से लेकर बड़े नेताओं को भी प्रदेश सरकार से कुछ न कुछ इनाम की आस है। स्थानीय स्तर पर पार्षदों को नगर निगम में नई भाजपा परिषद में सभापति बनाया जा सकता है तो वहीं राज्य स्तर पर बड़े नेताओं को निगम, मण्डल और बोर्ड अध्यक्ष, उपाध्यक्ष पद दिया जा सकता है। जिससे उनका सत्ता-संगठन में मान-सम्मान बना रह सकें।
…..
लम्बे समय से नहीं हुई मंडल-बोर्ड की नियुक्तियां

राज्य स्तर पर निगम, मंडल, बोर्ड में लंबे समय से अध्यक्ष-उपाध्यक्षों की नियुक्तियां नहीं हुई है। प्रदेश में पूर्व में शिवराज सिंह की सरकार व कमलनाथ सरकार में महाकोशल विकास प्राधिकरण, भारिया विकास प्राधिकरण, हाउसिंग बोर्ड के अध्यक्ष से लेकर कई और पद खाली रहे। बता दें कि पहले छिंदवाड़ा से पर्यटन बोर्ड में संतोष जैन, महाकोशल विकास प्राधिकरण में शेषराव यादव पदाधिकारी रहे। इस बार डॉ.मोहन यादव की सरकार है। इस सरकार से उम्मीद की जा रही है कि जिले के बड़े नेताओं को जिन्होंने लोकसभा सीट जिताने में मेहनत की, उन्हें कहीं न कहीं ऐसे पद दिए जाएं।
……
नगर निगम में छह एल्डरमैन की संभावना

प्रदेश सरकार की ओर से नगर निगम में छह एल्डरमैन की नियुक्ति का प्रावधान है। वर्ष 2022 में कांग्रेस की परिषद बन जाने से ये नियुक्ति नहीं हो सकी। अब जबकि निगम में भाजपा की परिषद आ गई है, तब एल्डरमैन बनाकर कुछ नेताओं को संतुष्ट किया जा सकता है।
……..
एमआईसी में भी 10 पद, पार्षदों की जुड़ी आस

महापौर विक्रम अहके भाजपा में प्रवेश ले चुके हैं। उन्होंने नई एमआईसी का गठन जल्द करने की बात कहीं है। इस एमआईसी के सदस्यों की नियुक्ति से पहले सांसद और भाजपा संगठन की अनुमति लेनी होगी। इसमें पुरानी भाजपा के पार्षद तथा कांग्रेस से भाजपा में आए पार्षदों को सभापति बनाया जाएगा। यह जिम्मेदारी भी महत्वपूर्ण है। इसमें अपने वार्ड में भाजपा को सर्वाधिक वोट दिलाने वाले पार्षद शामिल किए जा सकते हैं।
…..

Hindi News/ News Bulletin / राजनीति…लोकसभा चुनाव में दिलाई तो निगम-मंडलों की नियुक्ति से आस

ट्रेंडिंग वीडियो