scriptरानी दुर्गावती टाइगर रिजर्व में बारिश के दिनों में बाघों को मिलेगी खास सुरक्षा | Patrika News
समाचार

रानी दुर्गावती टाइगर रिजर्व में बारिश के दिनों में बाघों को मिलेगी खास सुरक्षा

प्रबंधन का मानना है कि टाइगर रिजर्व में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहेंगे। इससे शिकारी अपने मंसूबों में बिल्कुल भी सफल नहीं हो पाएंगे। सुरक्षा कर्मियों की इस तरह तैनाती की जाएगी कि चौबीसों घंटे और टाइगर रिजर्व के हर इलाके की निगरानी की जा सके।

दमोहJun 27, 2024 / 07:03 pm

pushpendra tiwari

दमोह. बारिश का मौसम शुरू हो चुका है। ऐसे में रानी दुर्गावती टाइगर रिजर्व में सुरक्षा इंतजामों को लेकर युद्ध स्तर पर तैयारियां चल ही हैं। 30 जून से अगले तीन महीने यानी 30 सितंबर तक सैलानियों के लिए टाइगर रिजर्व बंद रहेगा। इस दौरान टाइगर रिजर्व प्रबंधन का पूरा फोकस टाइगर रिजर्व और यहां के वन्यजीवों की सुरक्षा पर रहेगा। दरअसल बारिश के मौसम में शिकार की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। शिकारी खराब मौसम का फायदा उठाकर अक्सर वन्यजीवों का शिकार करते हैं। टाइगर रिजर्व बनने के बाद पहला मानसूनी सीजन पड़ रहा है। ऐसे में टाइगर रिजर्व प्रबंधन सुरक्षा को लेकर काफी संजीदा है। टाइगर रिजर्व में 40 पेट्रोलिंग कैंप तैयार हैं। हर कैंप में 5 से 6 सुरक्षा कर्मचारी तैनात किए जा रहे हैं। प्रबंधन का मानना है कि टाइगर रिजर्व में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहेंगे। इससे शिकारी अपने मंसूबों में बिल्कुल भी सफल नहीं हो पाएंगे। सुरक्षा कर्मियों की इस तरह तैनाती की जाएगी कि चौबीसों घंटे और टाइगर रिजर्व के हर इलाके की निगरानी की जा सके।
झापन को छोड़कर सभी रेंजों में बाघों का मूवमेंट

टाइगर रिजर्व में सुरक्षा को लेकर फिक्र और पुख्ता इंतजाम करने का एक बड़ा कारण बाघों का मूवमेंट है। जानकारी के अनुसार वर्तमान में ज्यादातर बाघों का मूवमेंट झापन रेंज को छोड़कर टाइगर रिजर्व बाकी सभी रेंजों में देखा गया है। खासकर बांधवगढ़ से जो नया जोड़ा छोड़ा गया था उसने अपनी टेरिटरी में भी इजाफा किया है। यही कारण है कि बरसात में बाघों की सुरक्षा को लेकर काफी व्यवस्थाएं की जा रही हैं।
40 पेट्रोलिंग कैंप, संसाधन उपलब्ध हुए

टाइगर रिजर्व के नौरादेही वन मंडल में 40 पेट्रोलिंग कैंप तैयार हैं। यहां कर्मचारियों को रहने.खाने के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। टाइगर रिजर्व के डिप्टी डायरेक्टर एए अंसारी ने बताया कि पेट्रोलिंग कैंप में 40 हैं। आंतरिक इलाकों में कच्चे रास्तों से वाहनों की आवाजाही बंद हो जाती है। इस दौरान पेट्रोलिंग कैंप के कर्मचारी ही सुरक्षा संभालते हैं। गस्ती के लिए सभी सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं। अंसारी ने बताया कि आने वाले समय में पेट्रोलिंग कैंप 40 से 100 तक करने का लक्ष्य है।
100 अतिरिक्त सुरक्षा कर्मियों की लगेगी ड्यूटी

मौजूदा समय में टाइगर रिजर्व के पास करीब 200 सुरक्षा कर्मियों को बल है। हालांकि बारिश में स्थितियां बदल जाती हैं और इस दौरान अतिरिक्त सुरक्षा कर्मचारियों की जरूरत होती है। इस बार टाइगर रिजर्व प्रबंधन समितियों के माध्यम से 100 पेट्रोलिंग श्रमिक ले रहा है। इन कर्मचारियों की करीब 3 महीने की अंशकालिक ड्यूटी टाइगर रिजर्व में लगेगी। इन्हें खास ट्रेनिंग भी दी गई है।
यहां दमोह में सुरक्षा ढीली, क्योंकि एरिया हैंडओवर नहीं हुआ

रानी दुर्गावती टाइगर रिजर्व के नौरादेही वन मंडल में सुरक्षा के जितने पुख्ता इंतजाम हैं, दमोह वन मंडल के एरिया में सुरक्षा उतनी ही ढीली है। वजह है दमोह वन मंडल का एरिया अब तक हैंडओवर न होना। बता दें कोर एरिया 2 में दमोह वन मंडल के पांच कंपार्टमेंट बघनी, सिंगौरगढ़, दानीताल, सिंगौरगढ़ व निदान बीट का 23.97 वर्ग किमी का एरिया शामिल है। जिसे हैंडओवर न करने के लिए दमोह वन मंडल के अधिकारी कभी पौधरोपण तो कभी कुछ बहाना बना रहे हैं। इस वजह से यहां पेट्रोलिंग कैंप सहित अन्य सुरक्षा इंतजाम नहीं हो पा रहे हैं।
वर्जन
बारिश के मौसम में जंगल में कई रास्ते कट जाते हैं। वाहन से गश्ती संभव नहीं होती। इसलिए पैदल गश्ती पर जोर दिया जाता है। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली है। पेट्रोलिंग कैंप तैयार हैं। बाघों का मूवमेंट जिन इलाकों में है वहां सुरक्षा के लिए खास तौर से इंतजाम किए गए हैं।
एए अंसारी, डिप्टी डायरेक्टर टाइगर रिजर्व दुर्गावती
यह भी पढ़ें..
ट्रिपल मर्डर के आरोपियों को पुलिस ने कोर्ट में पेश कर लिया रिमांड पर
बांसा तारखेड़ा हत्याकांड
दमोह. बांसा तारखेड़ा में हुए ट्रिपल मर्डर कांड के आरोपियों को पुलिस ने गुरूवार की दोपहर मेडिकल परीक्षण कराने के बाद दमोह कोर्ट में पेश किया। इधर कोर्ट ने पुलिस के आग्रह पर आरोपियों को तीन दिन की रिमांड पर पुलिस को दिया है। घटनाक्रम के संबंध में देहात थाना टीआइ रविंद्र बागरी ने बताया है कि ट्रिपल मर्डर के चार आरोपियों को हिरासत में लिया गया था, जिन्हें न्यायालय में पेश किया गया। घटनाक्रम के मुख्य आरोपी राजाबाबू विश्वकर्मा और गोलू विश्वकर्मा को पूछताछ के लिए तीन दिन की रिमांड पर लिया गया है। टीआइ ने बताया कि आरोपियों से घटना में उपयोग किए गए हथियार, गाड़ी भी बरामद कर ली गई है। वहीं मामले के एक और आरोपी की अभी तलाश की जा रही है। उन्होंने बताया कि प्रकरण की विवेचना के दौरान अन्य जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। इधर आरोपियों के घर पर बुल्डोजर चलाने की कार्रवाई पर भी प्रक्रिया चल रही है। बताया गया है कि आरोपियों के अवैध कब्जों का सर्वे कर बुल्डोजर से कब्जों को हटाए जाने की कार्रवाई को पूरा किया जाएगा।

Hindi News/ News Bulletin / रानी दुर्गावती टाइगर रिजर्व में बारिश के दिनों में बाघों को मिलेगी खास सुरक्षा

ट्रेंडिंग वीडियो