scriptफाइनेंस कंपनी ने टर्मिनेट किया तो उसी के एजेंटों से लूटे लाखों रुपए, पिस्टल व कारतूस सहित तीन गिरफ्तार | Patrika News
समाचार

फाइनेंस कंपनी ने टर्मिनेट किया तो उसी के एजेंटों से लूटे लाखों रुपए, पिस्टल व कारतूस सहित तीन गिरफ्तार

सीकर.कोतवाली थाना पुलिस और डीएसटी की संयुक्त टीम ने फाइनेंस कंपनी के कार्मिकों व एजेंटों से कलेक्शन की मोटी रकम लूटने वाली गैंग को गिरफ्तार किया है। गैंग का सरगना विकास गुर्जर पूर्व में इसी कंपनी में काम करता था। लूट की हर वारदात को अंजाम देने के बाद वह पहाड़ियों में फरारी काटता था […]

सीकरJun 16, 2024 / 11:15 am

Sachin


सीकर.कोतवाली थाना पुलिस और डीएसटी की संयुक्त टीम ने फाइनेंस कंपनी के कार्मिकों व एजेंटों से कलेक्शन की मोटी रकम लूटने वाली गैंग को गिरफ्तार किया है। गैंग का सरगना विकास गुर्जर पूर्व में इसी कंपनी में काम करता था। लूट की हर वारदात को अंजाम देने के बाद वह पहाड़ियों में फरारी काटता था और गांव के युवाओं को साथ लेकिर वारदात को अंजाम दे लाखों रुपए लूटता था। आरोपी गत कुछ महीनों से जिले के अलग-अलग इलाकों में हो रही भारत फाइनेंस कंपनी के कलेक्शन एजेंटों से लूटता था। पुलिस ने मास्टरमाइंड सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
कोतवाल विक्रांत शर्मा ने बताया कि गैंग का सरगना विकास गुर्जर ने सीकर जिले में रींगस, नेछवा, लक्ष्मणगढ़, सदर और उद्योगनगर थाना इलाके में कंपनी के कलेक्शन एजेंटों के साथ वारदात की है। बदमाशों ने लुटेरों ने लाखों रुपए लूटे। हाउसिंग बोर्ड स्थित कॉलोनी में कंपनी के दफ्तर में लूट की वारदात को अंजाम देने में नाकाम रहने पर आरोपियों ने कुछ माह पहले फायरिंग की थी। डीएसटी टीम के कांस्टेबल अंकुश को मुखबिर के जरिए सूचना मिली कि गैंग के सदस्य सीकर में वारदात को अंजाम देने के लिए आ रहे हैं। कोतवाली पुलिस और डीएसटी टीम ने सीकर में नानी चौराहे की तरफ नाकाबंदी की। वहां एक अपाचे बाइक पर तीन युवक आते हुए दिखाई दिए। पुलिस को देखकर उन्होंने बाइक को घुमाया। जब मौके पर मौजूद टीम ने उन्हें पकड़ने की कोशिश की तो तीनों बदमाश बाइक से नीचे गिर गए।

देशी पिस्टल व चार जिंदा कारतूस मिले


पुलिस ने बदमाशों से पूछताछ की। गैंग का सरगना विकास गुर्जर है। उसके दो साथी सचिन और शिशपाल पहली बार ही वारदात को अंजाम देने के लिए उसके साथ आ रहे थे। पुलिस को आरोपियों के पास से एक देशी पिस्टल और चार जिंदा कारतूस भी मिले हैं। विकास गुर्जर ने भारत फाइनेंस कंपनी के कलेक्शन एजेंटों से रींगस, सदर थाना सीकर, नेछवा और लक्ष्मणगढ़ में लूट की वारदात करना कबूला है। पुलिस ने तीनों आरोपी विकास गुर्जर (20) पुत्र ताराचंद गुर्जर निवासी हासियावास, कोटपूतली, सचिन (19) उर्फ एस के पुत्र भोमाराम गुर्जर निवासी हासियावास, कोटपूतली और शिशपाल (22) पुत्र धनसी निवासी हासियावास, कोटपूतली को गिरफ्तार कर लिया।

विकास को पता था मोटी रकम का कलेक्शन कब होता है

लूट की वारदात को अंजाम देने वाली गैंग का मास्टरमाइंड विकास गुर्जर है। विकास पहले फाइनेंस कंपनी में नौकरी कर चुका है, लेकिन उसे कंपनी ने टर्मिनेट कर दिया था। विकास को पता था कि कंपनी के कलेक्शन एजेंट किस दिन और किस समय कलेक्शन करने के लिए जाते हैं। ऐसे में उसने अपने साथ अपने ही गांव और अन्य कई साथियों को जोड़ा। पहले जिन दो आरोपियों के साथ उसने वारदात की। वह अभी तक पुलिस पकड़ से दूर है। अब गिरफ्तार हुए आरोपी सचिन और शिशपाल उसी के गांव के रहने वाले हैं। इन्हें पहली बार ही वह लूट में शामिल करने वाला था। लेकिन उसके पहले ही पुलिस ने तीनों को धर दबोचा।

लूट की वारदात को अंजाम दे पहाड़ों में काटता फरारी

पुलिस के अनुसार आरोपी विकास अपने साथियों के साथ लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद नीमकाथाना,पाटन और कोटपूतली की पहाड़ियों में फरारी काटता था। जिस दिन उन्हें लूट की वारदात को अंजाम देना होता था उस दिन जल्दी सुबह वहां से रवाना होकर आते और फिर लूट की वारदात करके ग्रामीण क्षेत्र के रास्ते वापस पहाड़ों में चला जाता था। गैंग को पकड़ने में सबसे अहम भूमिका जिला विशेष पुलिस के कांस्टेबल अंकुश कुमार की रही। इसके अलावा टीम में कोतवाली थाने के कांस्टेबल लक्ष्मणराम, दिलीप कुमार, उद्योग नगर थाने के कांस्टेबल बलबीर, क्यूआरटी टीम के विजयपाल, आईजी ऑफिस सीकर के कांस्टेबल महावीर सहित साईबर सेल, डीएसटी टीम का योगदान रहा।

Hindi News/ News Bulletin / फाइनेंस कंपनी ने टर्मिनेट किया तो उसी के एजेंटों से लूटे लाखों रुपए, पिस्टल व कारतूस सहित तीन गिरफ्तार

ट्रेंडिंग वीडियो