Krishna Janmashtami Puja Mantra : इन मंत्रों से पूजा कर भगवान कृष्ण को करें प्रसन्न, दूर होगी दरिद्रता, मनोकामना होगी पूरी

Krishna Janmashtami Puja Mantra : इन मंत्रों से पूजा कर भगवान कृष्ण को करें प्रसन्न, दूर होगी दरिद्रता, मनोकामना होगी पूरी

Ashutosh Pathak | Publish: Sep, 03 2018 09:33:13 AM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

Shree Krishna Janmashtami Puja Mantra : जन्माष्टमी पर विशेष मंत्रों से करें पूजा, भगवान कृष्ण इन मंत्रो के जाप से होते हैं खुश, पाप नाश के अलावा संतान प्राप्ती के लिए इन मंत्रों से आज करें पूजा

नोएडा। आज देश भर में जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जा रहा है। कल से मंदिरों में जन्मोत्सव को लेकर धूम मची हुई है। लोग भी अपने घरों में बाल गोपाल की पूजा कर रहे हैं, लेकिन कैसें करें पूजा की भगवान हो जाएं प्रसन्न, किन मंत्रों से करें पूजा बता रहें हैं गाजियाबाद के रहने वाले ज्योतिषाचार्य पं. कमल नयन तिवारी जी...

वैसे तो भगवान श्री कृष्ण की अनेको स्तुति, हजारों मंत्र हैं। लेकिन इनमें से भी कुछ खास सहज और अचूक मंत्र हैं जिनके पाठ, जाप से बांके बिहारी भक्तों की सभी मनोकामना पूरी करते हैं। जन्माष्टमी पर इन मंत्रों का करें पाठ-

ये भी पढ़ें : पुलिस थाने में जरुर मनाया जाता है ये त्योहार, आधी रात तक जगते हैं पुलिस वाले, इन लोगों का भी लगता है मजमा

भगवान श्री कृष्ण को प्रसन्न करने के लिए-

करारविंदे पदारविंद्म मुखारविंदे विनिवेशयन्तम ।
वटस्य पत्रस्य पुटे शयानम बालं मुकुंद्म मनसा स्मरामि।।

कष्ट निवारण के लिए-

ॐ कृष्णाय वासुदेवाय हरये परमात्मने।
प्रणतक्लेश नाशाय गोविन्दाय नमो नमः।।

पाप, ताप नाश के लिए-

ॐ सच्चिदानंद रूपाय विश्वोत्पत्यादि हेतवे। तापत्रये विनाशाय श्री कृष्णाय वयं नम:

संतान प्राप्ति के लिए मंत्र-

ॐ देवकीसुतगोविंद वासुदेवजगत्पते।
देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गतः।।

मनोकामना सिद्धि के लिए-

मूकं करोति वाचालं पंगुं लंघयते गिरिम् ।
यत्कृपा तमहं वन्दे परमानन्दमाधवम् ॥

सर्व कल्याण के लिए-

ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नम:।।

विद्या प्राप्ति के लिए-

ॐ कृष्ण कृष्ण महाकृष्ण सर्वज्ञ त्वं प्रसीद मे।

रमारमण विद्येश विद्यामाशु प्रयच्छ मे ।।

सर्व सिद्धि के लिए-

हरे कृष्ण हरे कृष्ण, कृष्ण-कृष्ण हरे हरे।
हरे राम हरे राम, राम-राम हरे हरे।।

विशेष कृपा पाने के लिए-

श्री कृष्ण गोविन्द हरे मुरारी
हे नाथ नारायण वासुदेवा॥
पितु मात स्वामी सखा हमारे
हे नाथ नारायण वासुदेवा॥

मनोकामना सिद्धि के लिए-

वसुदेव सुतं देवं कंस चारुण मर्दनम ।
देवकी परमानंदम्‌ कृष्णंवंदे जगत्गुरुम्‌ ॥

जन्माष्टमी के दिन मधुराष्टकम का पाठ भी कल्याणकारी होता है-

अधरं मधुरं वदनं मधुरं, नयनं मधुरं हसितं मधुरम्।
हृदयं मधुरं गमनं मधुरं, मधुराधिपतेरखिलं मधुरम्॥

ये भी पढ़ें : Krishna Janmashtami Song: अगर Search कर रहे हैं Janmashtami या Krishna Song तो यहां देखे गाने और करें download

Ad Block is Banned