दबंग बाउंसरों पर पुलिस का शिकंजा: 3 सिक्योरिटी एंजेंसियों के 36 बाउंसरों की लगी क्लास

Iftekhar Ahmed | Updated: 17 Jul 2019, 08:25:49 PM (IST) Noida, Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh, India

215 सोसायटिओं में की गई जांच
18 सोसायटी में पाए गए 36 बाउंसर

नोएडा. नोएडा और ग्रेटर नोएडा में तेजी से बन रही चमचमाती इमारतों में हर कोई अपना एक छोटा-सा आशियाना बनाना चाहता है, लेकिन काफी लोगों के लिए ये एक सपना बन कर रह गया है। जिन लोगों को यह चाहत पूरी हुई है, उन्हें भय, घुटन और आतंक के साए में जीना पड़ रहा है। इसका कारण है बिल्डरों की ओर से इन सोसाइटी में सुरक्षा के नाम पर तैनात किए गए गार्ड और बाउंसर। यहां तैनात किए गए बाउंसर बिल्डर के हक में लगातार अपनी दबंगई दिखाते हैं और मारपीट करते हैं। लगातार मिल रही, इन शिकायतों को मिलने के बाद अब पुलिस प्रशासन जागा हैं और इन बांउसरों पर कार्रवाई की गई है।

यह भी पढ़ें: डीएम का पद संभालने वाली इस महिला अफसर को अब तक मिल चुके हैं इतने अवार्ड, संख्या जानकर रह जाएंगे दंग

कैप टाउन सोसायटी के एक साल पहले का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, जिसमें 3 दिन तक पानी न आने पर शिकायत करने पहुंचे रेजिडेंट को बाउंसर और गार्डों ने जमकर पीटा। सारी घटना सीसीटीवी में कैद होने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई। यह एकमात्र घटना नहीं है। इसी साल सेक्टर-76 के महागुण सोसायटी में बाउंसर ने पार्किंग के विवाद को लेकर तापस निगम और उनकी पत्नी को पीटा था। इसके अलावा सेक्टर-75 में गोल्फ सिटी में पांच बाउंसर ने सुरक्षा गार्डों को पीट दिया था। सेक्टर-18 में व्यापारियों और बाउंसर के बीच मारपीट, इसी प्रकार लॉजिक पार्क सिटी सेंटर बाउंस होने ऑफिसर एसोसिएशन के पदाधिकारियों को भी धमकाया था।

यह भी पढ़ें- मदरसों के खिलाफ बयानबाजी के बीच दारुल उलूम देवबंद की मजलिस-ए-आमिला की एक दिवसीय बैठक

लगातार मिल रही इन शिकायतों को लेकर नोएडा पुलिस ने इन बाउंसरों के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है, जिसके अंतर्गत जो 215 सोसायटिओं में जांच की गई, तो 18 सोसायटी में 36 बाउंसर पाए गए। यह बाउंसर प्राइवेट सिक्योरिटी एजेंसी रेगुलेशन एक्ट 2005 के नियमों का उल्लंघन नहीं कर रहे थे। पुलिस ने इन बाउंसरों को थाने में लाकर पूछताछ की और नियमों के अनुरूप वर्दी पहनने और सोसायटी के लोगों से संयमित व्यवहार करने का निर्देश दिया। पुलिस ने 3 सिक्योरिटी एंजेंसियों के खिलाफ पीएसएआर एक्ट के अंतर्गत रजिस्टर्ड नहीं होने पर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराए हैं।

यह भी पढ़ें- तीन तलाक पीड़िता की पुलिस नहीं लिख रही रिपोर्ट, दो माह से काट रही है थाने के चक्कर

इनमें से दो एंजेंसियों ग्रुप एक्समैन सिक्योरिटी एजेंसी स्वर्णिम विहार सोसायटी सेक्टर 82 और गोल्डन मेट्रो एंड फैसिलिटी सिक्योरिटी एजेंसी सेक्टर 92 के खिलाफ एफआईआर थाना फेस-2 पुलिस ने दर्ज किया है। इसके अलावा एक एफआईआर थाना सूरजपुर क्षेत्र के एवीजी हाइट्स सिक्योरिटी एजेंसी पर दर्ज किया गया है। इसके अलावा नोएडा सेक्टर 18 के बार और पब में काम करने वाले बाउंसर की भी जांच की।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned