उपचुनाव से पहले अखिलेश यादव का बड़ा फैसला, इन नेताओं से छीना पद, सपा में मची खलबली

-समाजवादी पार्टी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से यह जानकारी दी गई है

-प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र उत्तम के पद को छोड़कर राज्य, जिला, युवा प्रकोष्ठ और अन्य इकाइयों को भंग किया

-गौतमबुद्ध नगर जिले के सपा नेताओं में भी खलबली है

By: Rahul Chauhan

Updated: 23 Aug 2019, 03:11 PM IST

नोएडा। 2019 लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद समाजवादी पार्टी ने बड़ा ऐलान किया है। दरअसल, शुक्रवार को सपा अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पूरे उत्तर प्रदेश की सभी इकाइयों को भंग कर दिया है। समाजवादी पार्टी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से जानकारी दी गई है कि प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र उत्तम के पद को छोड़कर राज्य, जिला, युवा प्रकोष्ठ और अन्य इकाइयों को भंग किया जाता है। जिसके बाद गौतमबुद्ध नगर जिले के सपा नेताओं में भी खलबली है। जिले के सपा नेता अब पार्टी में नए पद लेने की होड़ में लग गए हैं।

सपा के पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल यादव ने बताया कि यह रुटीन प्रक्रिया के तहत फैसला लिया गया है। हर बार चुनाव के बाद इन इकाइयों को भंग किया जाता है। इससे नए लोगों को भी मौका मिलता है। इसमें अब लोगों की मेहनत देखकर पद दोबारा दिए जाएंगे। समाजवादी पार्टी के सभी विधायकों, पूर्व विधायकों, सांसद, पूर्व सांसदों और पूर्व मंत्रियों के साथ अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बैठक कर यह फैसला लिया है।

गौरतलब है कि यूपी में होने वाले उपचुनाव को लेकर भी सपा समेत अन्य पार्टियों ने तैयारी तेज कर दी है। माना जा रहा है कि इसी को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया गया है। इसके अलावा यह भी कहा जा रहा है कि नए लोगों को मौका देकर पार्टी में जान भरने का कार्य करने के लिए भी यह फैसला लिया गया है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned